सूरत। रुपयों से भरा बैग अगर सड़क पर पड़ा मिल जाए तो भला किसके मन में लालच नहीं आएगा। लेकिन, गुजरात के सूरत शहर में रहने वाले एक सेल्समैन ने ईमानदारी का एक बेहतरीन उदाहरण पेश किया है।

दरअसल, साड़ी के शोरूम में काम करने वाले एक सेल्समैन को 10 लाख रुपयों से भरा एक बैग मिला था, जिसे सेल्समैन ने संबंधित मालिक को वापस कर दिया। बैग मालिक ने सेल्समैन की ईमानदारी को देखते हुए उसे इनाम में एक लाख रुपए दे दिए, वहीं एक जौहरी ने भी सेल्समैन को एक लाख रुपए दिए।

पैसे मिलने की घटना शुक्रवार की है। दिलीप पोद्दार दोपहर में खाना खाने के बाद काम पर लौट रहे थे। इसी दौरान उनकी नजर सड़क पर पड़े एक लावारिस बैग पर पड़ी। बैग खोलने पर पता चला कि उसमें 2000 रुपये के नोटों की गड्डियां रखी थी और यह रकम लगभग 10 लाख रुपये थी।

दिलीप ने लालच किए बिना अपने शोरूम मालिक को इस संबंध में पूरी जानकारी दी। शोरूम मालिक ने पैसों के मालिक का पता चलने तक बैग को अपने पास ही रखने को कहा और इसकी सूचना उमरा थाने के केएस गढ़वी को दे दी।

सूचना के बाद पुलिस ने क्षेत्र में लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाले और बैग के मालिक का पता लगा लिया। बैग के मालिक का पता मिलते ही पोद्दार ने उनके पैसे उन्हें लौटा दिए। पोद्दार की ईमानदारी देखते हुए बैग मालिक ने उसे इनाम में एक लाख रुपए दे दिए।

पोद्दार को उनकी ईमानदारी के लिए हृदय पच्चिगर नाम के एक जौहरी ने भी एक लाख रुपए पुरस्कार के रूप में दे दिए। जौहरी ने बताया कि, पोद्दार ने जो रुपए वापस किए थे उससे उनकी दुकान से ही जेवर खरीदे गए। इस तरह ईमानदारी के लिए दिलीप पोद्दार को दो लाख रुपए पुरस्कार के रूप में दिए गए।