अहमदाबाद। देश व दुनिया में नेताओं अभिनेताओं तथा समाज के विभिन्न वर्गों में प्रसिद्ध लोगों पर पुस्तकें लिखी जाती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जीवन पर भी देश में दुनिया के कई लेखक संपादक वह पत्रकारों ने पुस्तकें लिखी लेकिन अकेले मोदी पर 29 पुस्तकें लिखने का रिकॉर्ड गुजरात के पत्रकार वे लेखक दिनेश देसाई के नाम है। पूरे देश में एक ही लेखक ने तीन भाषा में सर्वाधिक यानि 29 किताब लिखी हो, देसाई ऐसे ही एक लेखक हैं, जिन्होने अलग अलग थीम को लेकर यह किताबें लिखी है। वर्ल्ड रिकॉर्ड्स इंडिया नामक संस्था ने देसाई को इसके लिए सम्मानित भी किया है। अगस्त 2020 में संस्थान है एक ही व्यक्ति पर एक ही लेखक की ओर से 29 पुस्तक लिखने के लिए अवार्ड प्रदान किया। आजकल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी श में और विदेशों में भी चर्चा में रहते हैंं, ऐसे में उनके बारे में, उनके कार्य, जीवन, रहन सहन, आचार-विचार जानने की उत्सुकता दुनियाभर के लोगों में बढती ही जा रही है.

ऐसे में लेखक दिनेश देसाई ने अंग्रेजी में 3, हिन्दी में 4 तथा गुजराती भाषा में 22 मिलाकर कुल 29 किताबें मोदीजी के जीवन पर लिखी हैं, जो सन् 2011 से लेकर सन् 2020 के दरमियान प्रकाशित हुई है. पुस्तकों में मोदी जी के गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में किए गए कार्य वह प्रधानमंत्री के रूप में उनकी ताजपोशी से लेकर उनके कार्यकाल में लिए गए बड़े निर्णय आदि का उल्लेख किया गया। मोदी जी की देश विदेश की यात्रा ओं तथा सक्रिय राजनीति में आने से पहले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक के रूप में किए गए कार्य का भी विवरण पेश किया गया। पुस्तक में पीएम मोदी के व्यक्तिगत जीवन के कई पहलुओं को उजागर किया गया है।

निसंदेह तीन विविध भाषाओं में लिखी गई इन पुस्तकों में मोदी के जीवन के अधिकांश भाग को समेटने का प्रयास किया है जो गागर में सागर भरने के समान है। गुजराती अंग्रेजी के साथ हिंदी में भी दिनेश देसाई की कई पुस्तकें प्रकाशित हुई हैं जो मोदी जी के जीवन के बारे में इच्छुक लोगों को सटीक प्रमाणिक वह विविध जानकारी प्रदान करती है] लेखक दिनेश देसाई की इन 29 किताबों में से एक हिन्दी किताब को हिन्दी साहित्य अकादमी का सम्मान – पुरस्कार (सन् 2013) भी प्राप्त हो चुका है.

उल्लेखनीय है कि जाने माने पत्रकारोंं तथा लेखकों में (1) एम.वी. कामथ ने मोदीजी पर “ मेन ऑफ मॉमेन्ट”, (2) राजदीप सरदेसाई ने मोदीजी के उपर “ध ईलेक्शन धेट चेन्जड् ईन्डिया”, (3) उदय माहुरकर ने मोदीजी के उपर “सेन्टर स्टेजः ईनसाईड ध नरेन्द्र मोदी”, (4) गीरिश डबके ने मोदीजी के उपर “नरेन्द्रायन – स्टॉरी ऑफ नरेन्द्र मोदी”, (5) निरंजन मुखोपाध्याय ने मोदीजी के उपर “नरेन्द्र मोदीः ध मेन, ध टाईम्स्”, (6) एन्डी मरीनो ने मोदीजी के उपर “नरेन्द्र मोदीः अ पॉलिटीकल बायोग्राफी”, (7) लेन्स प्रिन्स ने मोदीजी के उपर “ध मोदी ईफेक्टः ईनसाईड नरेन्द्र मोदीझ केम्पेईन टु ट्रान्सफॉर्म ईन्डिया”,

(8) हिमांशु शेखर ने मोदीजी के उपर “मेनेजमेन्ट गुरुः नरेन्द्र मोदी”, (9) आझाद राय ने मोदीजी के उपर “ लिजेन्ड ऑफ नरेन्द्र मोदीः सागा ऑफ अ स्टेट्समेन”, (10) बिन्देश्वर पाठक ने मोदीजी के उपर “नरेन्द्र मोदीः ध मेकिंग ऑफ अ लिजेन्ड”, (11) निहाल सिंघ ने मोदीजी के उपर “मोदी मिथ” तथा (12) हरिशचंद्र बर्नवाल ने मोदीजी के उपर “मोदी मंत्र” टाईटल से किताबें लिखी हुई है. इन पत्रकार – लेखकों ने मोदी के उपर कुल मिलाकर एक एक किताब लिखी हुई है, जब किं गुजरात के लेखक एवम् पत्रकार, साहित्यकार दिनेश देसाई ने मोदीजी के उपर (1) गुजराती, (2) हिन्दी, (3) ईंग्लिश यानि तीनों भाषाओं में मिलाकर 29 किताबें लिखी है

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close