अशोकनगर (नवदुनिया प्रतिनिधि)। जिला अस्पताल के आइसीयू वार्ड में बने शौचालय का गेट टूट गया, जो कि दो दिन बाद भी सही नहीं हो सका। इस कारण यहां भर्ती मरीजों को परेशान होना पड़ रहा है। कई मरीज तो इसी गेट पर पर्दा डालकर उपयोग कर रहे हैं, तो कई लोग मजबूरन दूसरे वार्ड में जा रहे हैं। हालांकि अस्पताल प्रबंधन ने इस मामले में आइसीयू के डॉक्टर और सीनियर नर्सिंग अफसर को नोटिस जारी कर दिया है। आइसीयू वार्ड का यह दरवाजा करीब दो दिन पूर्व रात के समय टूट गया था, जिसके बाद दरवाजे को अलग रख दिया गया। ऐसे में यहां भर्ती मरीज इसका उपयोग नहीं कर पा रहे हैं। स्थिति यह है कि पास ही बने अन्य वार्ड के शौचालय में मरीजों को जाना पड़ रहा है। इस स्थिति में सबसे अधिक परेशानी उन्हें हो रही है, जो मरीज चलने की स्थिति में भी नहीं हैं।

शुक्रवार को इंटरनेट मीडिया पर अस्पताल के आइसीयू वार्ड के शौचालय का एक वीडियो भी आया, जिसमें एक महिला अपने मरीज को शौच के लिए लेकर गई, गेट न होने के कारण उसने इस पर चादर की पर्दा लगा दी और खुद पकड़कर खड़ी रही। इसके अलावा शहर कांग्रेस के अध्यक्ष रीतेश जैन ने भी इस टूटे गेट को सही कराने के लिए सिविल सर्जन डॉ. डीके भार्गव से मुलाकात की।

सिविल सर्जन ने कहा- आधा घंटे में लगवाओ दरवाजा

आइसीयू के शौचालय में टूटे दरवाजे की जानकारी सिविल सर्जन डॉ. डीके भार्गव के संज्ञान में आई, तो वे तुरंत हरकत में आ गए। डॉ. भार्गव ने अस्पताल के मैनेजर डॉ. प्रशांत दुबे को निर्देश दिए कि तत्काल आधा घंटे में शौचालय में दरवाजा लगवाया जाए। वहीं, इसकी जानकारी न देने वाले डॉक्टर और वहां पदस्थ सीनियर नर्सिंग अफसर को भी नोटिस जारी करो। इनके द्वारा संतोषजनक जवाब नहीं दिया जाता है, तो कार्रवाई भी की जाएगी।

आइसीयू में शौचालय का दरवाजा टूटने का मामला अभी मेरी जानकारी में आया है, उसे सही कराया जा रहा है। यह दरवाजा रात के समय किसी मरीज ने तोड़ दिया था। समय पर इसकी जानकारी न देने वाले डॉक्टर और सीनियर नर्सिंग अफसर को नोटिस जारी कर दिया है।

- डा. डीके भार्गव, सिविल सर्जन

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local