भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि) । विश्व स्तरीय सुविधाओं वाले स्टेशन में शामिल होने जा रहे हबीबगंज रेलवे स्टेशन पर एयर कॉन्कोर का काम भी पूरा हो गया है। पहले स्टेशन पर फुट ओवरब्रिज था जो सीढ़ियों के जरिए प्लेटफार्मों से जुड़ा था जो करीब 15 फीट चौड़ा था। इसकी जगह बड़े आकार का ब्रिज बना दिया है, जो ट्रेवलेटर व एस्केलेटर के जरिए प्लेटफार्मों से जुड़ा है। सीढ़ियां भी है। इसकी चौड़ाई 80 फीट से अधिक है। इस पर बैठक् व्यवस्था बेहतर कर दी गई है। 50 कुर्सियां लगा दी है। इन पर 200 से अधिक यात्रियों के बैठने का इंतजाम हैं। इसे और बढ़ाया जाएगा। लॉकडाउन के बाद यात्रियों का दबाव बढ़ते ही बहु उपयोगी स्टॉलों शुरू कर दिए जाएंगे। यात्रियों को एयर कान्कोर पर ही खानपान की सुविधा मिलेगी। कान्कोर बनाने का काम सबसे कठिन था, जो दो साल से चल रहा था। इस पर 900 से अधिक यात्रियों के ठहरने की सुविधा होगी। यहीं से यात्री प्लेटफार्मों पर पहुंचेंगे और सीधे ट्रेनों में बैठकर निकल जाएंगे। स्टेशन को विकसित कराने वाली नोडल एजेंसी इंडियन रेलवे स्टेशन डेवलपमेंट कार्पोरेशन के एजीएम राजेश मंडलोई का कहना है कि स्टेशन परिसर में बाकी सुविधाएं भी बढ़ाई जा रही है लेकिन लॉकडाउन की वजह से उपयोग करने वाले यात्री न के बराबर है।

ये काम हुए

- यात्री सुविधा वाली 36 मीटर उंची बिल्डिंग प्लेटफार्म एक की तरफ बनकर तैयार हो गई है। उसके सामने पार्किंग व्यवस्थित की जा रही है। इसी बिल्डिंग में बहु उपयोगी स्टॉल, वेटिंग रूम, रिटायरिंग रूम, बजट होटल होंगे।

- दोनों अंडर ग्राउंड सब वे डेढ़ साल पहले चालू कर दिए हैं।

- प्लेटफार्मों पर शेड लगाने काम पूरा हो गया है, फीनिसिंग हो चुकी है। इलेक्ट्रॉनिक डिस्प्ले और अनाउंसमेंट सिस्टम लगा दिए हैं।

-प्लेटफार्म पांच की तरफ की पुरानी बिल्डिंग के विस्तार का काम पूरा करने के बाद उसे चालू कर दिया है। प्रवेश द्वार व निकासी अलग—अलग कर दी है। ताकि यात्रियों की भीड़ एकत्रित न हो। इस ओर पार्किंग को व्यवस्थित कर दिया है।

ये काम बाकी

-कुछ ट्रेवलेटर व एस्केलेटर को स्टॉल करने का काम बाकी है। एयर कॉन्कोर पर बहु उपयोगी स्टॉल शुरू नहीं की है।

- प्लेटफार्मों पर बैठक व्यवस्था क विस्तार बाकी है।

-प्लेटफार्म एक की तरफ पार्किंग एरिया ठीक से विकसित नहीं किया है। यह काम चल रहा है।

यात्रियों को ये सुविधाएं मिलने में लगेगा समय

-स्टेशन परिसर में अस्पताल, सिनेमा, शॉपिंग मॉल की सुविधा मिलने में अभी भी डेढ़ से दो साल का समय लग सकता है। इनके लिए बिल्डिंगें बनाई जा रही हैं।

Posted By: Lalit Katariya

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags