Bhopal Railway Station : भोपाल। भोपाल रेलवे स्टेशन पर गुरुवार सुबह नौ बजे प्लेफार्म नंबर 2 और 3 को जोड़ने वाले फुटओवर ब्रिज का एक हिस्सा नीचे आ गिरा। हादसे में 9 लोग घायल हो गए। घटना के बाद स्टेशन पर भगदड़ की स्थिति बन गई थी। घटना के बाद ब्रिज पर जितने भी लोग खड़े हुए थे वो नीचे की ओर भागने लगे। सूचना मिलने पर पुलिस वहां पहुंची और यात्रियों को वहां से हटाया। घायलों को हमीदिया और रेलवे के निशातपुरा अस्पताल में भर्ती किया गया है। घटना में रेलवे की बड़ी लापरवाही समाने आ रही है, बताया जा रहा है कि ब्रिज के जर्जर होने की शिकायत कई लोगों ने अधिकारियों से की थी, लेकिन इसे सुधारने के लिए कोई काम नहीं किया गया और अब यह हादसा हो गया। जिस प्लेटफार्म पर ब्रिज गिरा है वहां से ट्रेनों की आवाजाही बंद कर दी गई है। भोपाल रेलवे स्टेशन पर एसडीआरएफ की टीम बुलाया गया है। यहां डीआरएम सहित आरपीएफ, जीआरपी के अधिकारी मौजूद हैं।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार घटना में ब्रिज पर से गुजर रहे लोग और उसके नीचे बैठे लोग घायल हुए हैं। सुबह नौ बजे झेलम पंजाब मेल समेत अन्य गाड़ियों के हजारों यात्री यहां से गुजर रहे थे। इसी दौरान एक कंपनी हुआ और ब्रिज का एक हिस्सा नीचे आ गिरा। यह बात भी सामने आ रही है कि यह ब्रिज करीब 50 साल पुराना है।

कैंटीन चलाने वालों ने की थी शिकायत

भोपाल रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर दो पर ब्रिज के नजदीक कैंटीन चलाने वालों ने रेलवे कर्मचारियों को इसकी सूचना दी थी कि ब्रिज का कुछ हिस्सा बहुत जर्जर हो चुका है। सुबह जब वे लोगों को चाय बनाकर दे रहे थे, तभी यह घटना हो गई। इसके बाद वे घायलों को बचाने के लिए दौड़ और मलबा हटाकर उन्हें बाहर निकाला। उनका कहना है कि यह अच्छा रहा कि घटना के वक्त यहां ज्यादा यात्री मौजूद नहीं थी और नहीं तो कई लोग घायल हो जाते। यह बात भी सामने आ रही है कि ब्रिज का कुछ हिस्सा बुधवार रात को ही गिरने लगा था। रात को ही इसको लेकर अगर कोई एक्शन लिया जाता तो यह हादसा न होता। यह पूरी घटना रेवले के सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई है।

मध्य प्रदेश के जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने हादसे पर कहा कि घायलों के इलाज की व्यवस्था की गई है। इस मामले में मध्य प्रदेश सरकार रेल मंत्रालय को पत्र लिखकर सभी रेलवे ब्रिजों की जांच करने की मांग करेगी।

Posted By: Prashant Pandey

fantasy cricket
fantasy cricket