भोपाल (राज्य ब्यूरो)। समर्थन मूल्य के स्थान पर किसानों को लागत के आधार पर लाभकारी मूल्य देने, फसल बीमा में खसरा को इकाई बनाने सहित अन्य मांगों को लेकर भारतीय किसान संघ 19 दिसंबर को दिल्ली के रामलील मैदान पर गर्जना रैली करेगा। इसमें मध्य प्रदेश से बड़ी संख्या में किसान भाग लेंगे।

मध्य भारत प्रांत के अध्यक्ष कैलाश सिंह ठाकुर ने आंदोलन में उठाए जाने वाले मुद्दों की जानकारी देते हुए कहा कि किसान को अभी न्यूनतम समर्थन मूल्य दिया जा रहा है। जबकि, खेती की लागत कई गुना बढ़ गई है। किसान को लागत के आधार पर लाभकारी मूल्य मिलना चाहिए। इसके लिए सरकार कदम उठाए।

ठाकुर के अनुसार फसल बीमा के लिए अभी किसान को काफी परेशान होना पड़ता है। यदि पूरे पटवारी हलके में फसल प्रभावित नहीं होती है तो लाभ लेने की प्रक्रिया बड़ी जटिल है। इसका सरलीकरण किया जाना चाहिए। ट्रैक्टर, थ्रेसर, सिड्रिल सहित अन्य कृषि उपकरणोें पर जीएसटी लिया जाता है। इसे समाप्त किया जाए।

उन्‍होंने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि छह हजार रुपये से बढ़ाकर दस हजार रुपये हो। जंगली पशुओं से फसलों को होने वाले नुकसान की भरपाई की व्यवस्था हो। देसी गाय रखने वाले किसानों को प्रति गाय प्रतिमाह नौ सौ रुपये प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। सरकार किसानों को जो अनुदान देती है, उसका भुगतान सीधे खाते में किया जाए। देश में कृषि उत्पाद को देखते हुए आयात-निर्यात नीति‍ बनाई जाए। प्रदेश सरकार द्वारा संगठन की मांगों की पूर्ति की घोषणा पर कहा कि हम एक-दो माह इंतजार करेंगे। यदि ठोस कदम नहीं उठाए जाते हैं तो फिर आंदोलन किया जाएगा।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close