भोपाल। राजधानी की अदालत में फिल्म गीतकार व लेखक जावेद अख्तर के खिलाफ मानहानि का मुकदमा लगाया गया। न्यायिक मजिस्ट्रेट विजय सूर्यवंशी की अदालत में अशोका गार्डन निवासी राजेश कुंसारिया ने परिवाद पेश करते हुए जावेद अख्तर को कठोर सजा दिए जाने का निवेदन किया है। अदालत ने मामले को 24 जून को परिवादी के बयान दर्ज करने के लिए नियत किया है।

परिवाद में आरोप लगाया गया है कि फिल्म गीतकार व लेखक जावेद अख्तर ने दो मई 2019 को भोपाल में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान भाजपा की लोकसभा प्रत्याशी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को मानहानि कारक शब्द कहे थे।

उन्होंने साध्वी प्रज्ञा को रावण बताते हुए कहा था कि रावण भी सीताहरण के लिए साधु के वेश में आया था। यह मानहानिकारक शब्द सार्वजनिक रूप से लोगों के बीच बोले गए, जिन्हें सभी प्रमुख अखबारों, टीवी चैनलों में दिखाया गया। जोवद अख्तर की इन बातों से परिवादी को आघात पहुंचा है।

Posted By: Hemant Upadhyay