Right to Education Act: भोपाल (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शिक्षा का अधिकार अधिनियम (आरटीई) के तहत प्रदेश के 27 हजार 261 निजी स्कूलों में प्रवेश के लिए बुधवार को आनलाइन लाटरी निकाली गई। इसका शुभारंभ राज्यमंत्री स्कूल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) इंदर सिंह परमार ने किया।

2023-24 के सत्र के लिए राज्य शिक्षा केंद्र के संचालक धनराजू एस ने शिक्षा के अधिकार कानून के तहत निश्शुल्क प्रवेश की प्रक्रिया की। उन्होंने बताया कि इस वर्ष लगभग एक लाख 34 हजार 851 बच्चों द्वारा आरटीई के तहत प्रवेश के लिए आनलाइन आवेदन किए गए थे।

जिसमें से दस्तावेज सत्यापन उपरांत आनलाइन लाटरी के लिए एक लाख 15 हजार 593 बच्चे पात्र मिले थे। आरटीई पोर्टल के सर्वर पर सिंगल क्लिक के माध्यम से पूरे प्रदेश में एक साथ एक लाख एक हजार 219 बच्चों को स्कूलों का आवंटन किया गया।

प्रदेश के विभिन्न प्राइवेट स्कूलों में नर्सरी कक्षा में 59 हजार 75, केजी-1 में 30 हजार 197, केजी-2 में एक हजार 698 और कक्षा पहली में 10 हजार 249 बच्चों को निश्शुल्क प्रवेश दिलाया गया। इनमें से 85 हजार 336 बच्चों को उनकी पहली पसंद के आठ हजार 806 को द्वितीय पसंद के और चार हजार 212 को उनकी तीसरी पंसद के स्कूलों में प्रवेश मिला है।

इन सभी चयनित बच्चों को मोबाइल फोन पर एसएमएस भेजकर भी स्कूल आवंटन की सूचना प्रदान की गई है। अभिभावक आरटीई पोर्टल से आवंटन पत्र डाउनलोड कर अपने बच्चे को स्कूल में दिनांक 31 मार्च से 10 अप्रैल तक उपस्थित होकर निश्शुल्क प्रवेश दिला सकेंगे।

एक नजर में

प्रदेश के स्कूलों की संख्या- 27,261

पात्र आवेदन संख्या- 1,15,593

कुल आवेदन- 1,34,851

कुल आवंटन- 1,01,219

छात्राएं - 48,204

छात्र- 53,015

कक्षा अनुसार सीटों का आवंटन

नर्सरी - 59,075

केजी 1- 30,197

केजी 2- 1,698

पहली - 10,249

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

Mp
Mp