Sagar Railway News: सागर (नवदुनिया प्रतिनिधि)। बीना-कटनी रेल लाइन पर रतौना रेलवे स्टेशन व भूतेश्वर रेलवे फाटक के बीच हीराकुंड एक्सप्रेस की चपेट में आने की वजह से तीन लोगों की मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक रविवार को शाम साढ़े सात बजे के करीब हीराकुंड एक्सप्रेस बीना की ओर से कटनी की ओर जा रही थी। यह ट्रेन तीसरी रेल लाइन से जा रही थी। तभी तीन लोग ट्रेन की चपेट में आ गए। खबर मिलते ही मोतीनगर थाना पुलिस मौके पर पहुंची। इस दौरान मोतीनगर थाना क्षेत्र के बम्हौरी रेंगुवां ग्राम पंचायत में आने वाली पीतल फैक्ट्री कालोनी निवासी संजू घोषी व धर्मेंद्र यादव की मौत हो गई। वहीं तीसरे व्यक्ति पप्पू यादव की गंभीर हालत मे जिला अस्पताल ले जाते समय मौत हुई। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि ट्रेन की चपेट में आने के बाद दो लोगों के शव के टुकड़े करीब आधा किमी क्षेत्र में टुकड़ों-टुकड़ों में मिले। वहीं पप्पू यादव गंभीर रूप से घायल हुआ, जिसने अस्पताल जाते समय दम तोड़ दिया।

तीसरी लाइन पर टहल रहे थे

जानकारी के मुताबिक सागर- नरयावली के बीच करीब एक साल पहले ही तीसरी लाइन डाली गई है। तीसरी रेल लाइन पर बहुत कम ही गाड़ियां निकलती हैं। रविवार की शाम तीनों लोग तीसरी लाइन पर यही सोचकर टलह रहे थे कि वहां से कोई ट्रेन नहीं आएगी, लेकिन हीराकुंड एक्सप्रेस के वहां से गुजरने पर वे उसकी चपेट में आ गए। मोतीनगर थाना प्रभारी गौरव तिवारी का कहना है कि अभी मौत के कारणों का स्पष्ट पता नहीं चल सका, लेकिन ऐसे संभावना व्यक्त की जा रही है कि तीनों तीसरी लाइन पर टहल रहे थे, तभी वे ट्रेन की चपेट में आ गए। तीनों व्यक्ति पीतल फैक्ट्री कालोनी निवासी हैं। मृतकों के स्वजनों को सूचना भेजी गई है। शवों को पीएम के लिए जिला अस्पताल भेजा गया है।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close