भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। इस साल शरद पूर्णिमा 09 अक्‍टूबर रविवार को सर्वार्थ सिद्धि योग में मनाई जाएगी। इस शुभ संयोग में भूमि, भवन, वाहन व ज्वेलरी आदि की खरीद-फरोख्त करना शुभ व समृद्धिकारक रहेगा। शहर में इस दिन विभिन्न धार्मिक व सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे। शीतलदास की बगिया में बांके बिहारी व शिव-पार्वती भक्तों के साथ नौका बिहारी करेंगी। इस बार नौका को खास तौर पर सजाया जाएगा।

मां चामुंडा दरबार के पुजारी पंडित रामजीवन दुबे ने बताया कि रविवार नौ अक्टूबर तड़के 3:41 से पूर्णिमा तिथि का प्रारंभ होगी, जो 10 अक्टूबर तड़के 2:25 तक यह तिथि रहेगी। इस दिन सर्वार्थ सिद्धि योग रहेगा। तो वहीं शरद पूर्णिमा के दिन उत्तरा भाद्रपद और रेवती नक्षत्र होने से सुस्थिर योग और वर्धमान नाम के योग के साथ ध्रुव योग बन रहे हैं। इसके साथ ही शरद पूर्णिमा पर्व पर कन्या राशि में त्रिगह योग भी रहेगा। इस दिन कन्या राशि में सूर्य, बुध और शुक्र की युति बनेगी। सूर्य बुध की युति से बुधादित्य योग और बुध और शुक्र की युति से लक्ष्मी नारायण योग बनेगा। इन्हें ज्योतिष शास्त्र में राजयोग कहा जाता है।

इसी दिन शनि और गुरु अपनी अपनी राशि में वक्री अवस्था में रहेंगे। इस दिन चंद्रोदय का समय शाम 5:58 पर रहेगा। श्री दुबे ने बताया कि शरद पूर्णिमा के दिन चन्द्रमा अपनी सम्पूर्ण 16 कलाओं से परिपूर्ण रहेगा व पूर्णिमा तिथि का स्वामी भी स्वयं चन्द्रमा ही है इसलिए उसकी किरणों से इस रात अमृत की वर्षा होने की प्राचीन मान्यता भी है। इस रात चंद्रमा की किरणों के शरीर पर पड़ने से विभिन्न बीमारियां भी ठीक होती है। इस दिन खीर को भोग लगाकर उसका सेवन करना भी स्वास्थ्यवर्धक होता है।

निकलेगा चल समारोह

राजधानी भोपाल में शरद पूर्णिमा महोत्सव धूमधाम से मनाया जाएगा। श्री हिन्दू उत्सव समिति द्वारा शरद पूर्णिमा पर रविवार शाम को चल समारोह निकाला जाएगा। परम्परागत चल समारोह शाम छह बजे राधाकृष्ण मंदिर घोड़ा नक्कास से शुरू होगा, जो छोटे भैया कॉर्नर, जनकपुरी, भवानी चौक होते हुए रात नौ बजे शीतलदास की बगिया पहुंचेगा। यहां फूलों और रोशनी से सजी नौका में श्रीकृष्ण को नौका विहार कराया जाएगा। इसके बाद खीर का वितरण किया जाएगा।

बड़ी झील में नौका विहार करेंगे मां गौरा संग बाबा बटेश्वर

श्री बड़वाले महादेव मंदिर समिति द्वारा परंपरागत शरद पूर्णिमा उत्सव धूमधाम से मनाया जाएगा। समिति के संजय अग्रवाल एवं प्रमोद नेमा ने बताया कि शाम सात बजे श्री बटेश्वर महादेव का चलित स्वरूप लेकर मां भवानी मंदिर सोमवारा पहुंचेंगे। यहां अध्यक्ष रमेश सैनी मां गोरा की चलित प्रतिमा बाबा बटेश्वर के साथ विदा कर शीतल दास की बगिया लेकर पहुंचेंगे। रात नौ बजे फूल एवं विद्युत से सजी हुई नाव में श्रृंगार कर आरती की जाएगी। इसके बाद बड़ी झील में भगवान का नौका-विहार होगा।

पिलाई जाएगी औषधियुक्त खीर

श्रीअखंड आयुर्वेद भवन महोबा द्वारा 31 निश्शुल्क शरद शिविर अक्टूबर को शाम छह बजे से दशहरा मैदान अयोध्यानगर में आयोजित किया जाएगा। इसमें श्वास और दमा रोगियों को नाड़ी परीक्षण कर औषधि दी जाएगी। वैद्य पंडित चंद्रशेखर तिवारी ने बताया कि इस साल 31वां निश्‍शुल्क शरद शिविर का आयोजन किया जाएगा। श्वास और दमा रोगियों को नाड़ी परीक्षण कर औषधि दी जाएगी। मरीज को इस दवा का सेवन ब्रह्म मुहूर्त में 4:18 बजे करना उत्‍तम रहेगा।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close