भोपाल, सीहोर। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के पिता प्रेम सिंह चौहान के निधन के बाद रविवार को उनके घर अंतिम दर्शन के लिए कई बड़े नेता पहुंचे। कैलाश विजयवर्गीय जब वहां पहुंचे तो शिवराज सिंह उन्हें गले लगाकर भावुक हो गए। सीएम कमलनाथ और मंत्री जयवर्धन सिंह शिवराज के घर सांत्वना देने पहुंचे।

शिवराज सिंह चौहान के पिता प्रेमसिंह चौहान का उपचार के दौरान शनिवार को मुंबई में निधन हो गया था। वे 84 वर्ष के थे। उनके निधन पर भाजपा के अनेक नेताओं ने शोक व्‍यक्‍त किया। मुख्‍यमंत्री कमलनाथ और भाजपा के प्रदेश अध्‍यक्ष राकेश सिंह ने ट्वीट कर अपनी श्रद्धांज‍लि अर्पित की।

शिवराज के पिता कई दिनों से अस्वस्थ चल रहे थे। एक दिन पहले ही उन्हें उपचार के लिए भोपाल से मुंबई भेजा गया था। उन्‍होंने मुंबई के लीलावती अस्‍पताल में अंतिम सांस ली। पिता के देहावसान की खबर मिलते ही शिवराज सिंह मुंबई रवाना हो गए। शिवराज ने भोपाल में आज भाजपा की जीत पर मीडिया को संबोधित किया था। बताया जाता है कि इसी दौरान उन्‍हें यह दुखद समाचार मिला।

पार्थिव देह पंचतत्व में विलीन

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के पिता प्रेम सिंह चौहान की पार्थिव देह पंचतत्व में विलीन हो गई। उनके गृह ग्राम जैत में नर्मदा तट पर अंतिम संस्कार किया गया। मुखाग्नि शिवराज सिंह चौहान ने दी। इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रतिनिधि के बतौर सांसद नरेंद्र सिंह तोमर भी मौजूद थे।

बुदनी के समीप ग्राम जैत में बड़ी संख्या में पहुंचे नागरिक और सभी दलों के वरिष्ठ नेताओं ने दिवंगत आत्मा को श्रद्धांजलि अर्पित की। भाजपा के प्रदेश प्रभारी डॉ. विनय सहस्त्रबुद्धे, प्रभात झा, थावरचंद गेहलोत, प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह, नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, संगठन महामंत्री सुहास भगत सहित डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने पुष्पचक्र अर्पित किए। मुख्यमंत्री कमलनाथ के प्रतिनिधि के रूप में जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने श्रद्धांजलि अर्पित की। प्रेम सिंह चौहान को अंतिम विदाई देने आस पास के गांवों से बड़ी संख्या में ग्रामीण भी पहुंचे थे।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, राजनाथ सिंह, वरिष्ठ नेत्री सुषमा स्वराज, स्मृति ईरानी सहित कई राष्ट्रीय नेताओं ने फोन कर शोक व्यक्त किया और शिवराज को ढांढस बंधाया। अंतिम संस्कार के पूर्व भोपाल स्थित आवास पर बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक अंतिम दर्शन करने पहुंचे थे। इनमें कैलाश विजयवर्गीय, अरविंद मेनन, नंदकुमार सिंह चौहान, जीतू पटवारी, जयवर्धन सिंह, सुरेश पचौरी, ध्रुवनारायण सिंह, विष्णुदत्त शर्मा, प्रहलाद पटेल, आलोक शर्मा, राजकुमार पटेल व विजेश लूनावत आदि शामिल थे।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस