-युवक कांग्रेस एवं इंडियन मुस्लिम लीग के नेताओं के खिलाफ भी केस दर्ज

बुरहानपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

शहर में शुक्रवार को उपद्रव फैलाने वाले 15 और आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने विभिन्न धाराओं में केस दर्ज कर सोमवार को न्यायालय में पेश किया। यहां से उन्हें जेल भेजा गया। अब तक 48 आरोपियों को जेल भेजा चा चुका है। युवक कांग्रेस एवं इंडियन मुस्लिम लीग के नेताओं के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया है। अब पुलिस द्वारा फरार आरोपियों की संपत्ति कुर्की की कार्रवाई की जाएगी।

सीएसपी सुनील पाटीदार ने बताया कि मौन रैली के दौरान आमजन को उकसाने वाले आयोजनकर्ताओं युवक कांग्रेस के हर्षित ठाकुर, सुरेंद्रसिंह ठाकुर उर्फ शेरा भैया, इंडियन मुस्लिम लीग के हफीजुद्दीन, जहीरु उद्दीन, देवानंद तायडे, मुदस्सिर अहमद, नूर अहमद शेख सहित अन्य को अवांछित गतिविधियों में लिप्त पाए जाने पर विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया गया। 48 आरोपियों को न्यायालय में पेश कर जेल भेजा गया। फरार आरोपियों की तलाश की जा रही है। वहीं उनकी संपत्ति कुर्क करने की कार्रवाई पुलिस द्वारा की जाएगी। सीएसपी पाटीदार ने कहा कि सोशल मीडिया पर सायबर सेल नजर रखे हुए है। इसमें लिप्त दो लोगों पर एक दिन पहले ही केस दर्ज किया जा चुका है। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर 48 आरोपियों को पहचान कर उन्हें जेल भेजा गया है।

इनमें शेख यासिन, शेख वसीम, सोयेब खान, सलमान, शेख मंजूर, शाहरुख, मोहम्मद रईस, मोहम्मद चिराग उर्फ वकील अंसारी, मोहम्मद जमीर, शरीफ उल्लाह उर्फ कालू, शेख सलीम, शेख अनवर, समीर खान, शेख रईस, ऐहतेशाम, शेख अमीन, मोहम्मद सद्दाम, सैयद अजहर, सैयद जुबेर, मोहम्मद एजाज, मोहम्मद इमरान, मोहम्मद नदीम, शेख नफीस, अहफास बक्श, शेख सलीम, तौसिफ ऊर्फ जुबेर, रेहान समीर, अमजद सैयद सहित एक अन्य की गिरफ्तारी की जा चुकी है। जिसमें से एक आयोजक मुदस्सिर की गिरफ्तारी की जा चुकी है। राजनीतिक दबाब में कार्रवाई करने का लगाया आरोप

मप्र युवा कांग्रेस के अध्यक्ष कुणाल चौधरी ने बुरहानपुर पुलिस पर राजनीतिक दबाव में कार्रवाई करने का आरोप लगाया है। प्रेस रिलीज में चौधरी ने कहा कि मौन रैली में युवक कांग्रेस के विधानसभा अध्यक्ष हर्षित ठाकुर अपने सार्थियों के साथ शामिल हुए थे। इस दौरान शांतिप्रिय ढंग से शामिल होकर एसडीएम को ज्ञापन भी सौंपा था। इसके बाद यहां से वापस चले गए लेकिन इसके बाद भी राजनीतिक दबाव में हर्षित ठाकुर के खिलाफ केस दर्ज किया गया। उन्होंने मांग की कि पूरे मामले की निष्पक्ष जांच की जाना चाहिए।

...

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local