दमोह नईदुनिया प्रतिनिधि। जिले में अवैध नशे का कारोबार लगातार ही पुलिस संरक्षण में फल-फूल रहा है और जिले में चारों ओर गांजे का व्यापार के साथ-साथ स्मैक आदि का कारोबार भी चरम पर है लेकिन पुलिस द्वारा गाहे-बगाहे ही इस मामले में कार्रवाई की जाती है इसी क्रम में नोहटा पुलिस को भी एक बड़ी सफलता हासिल हुई है जिसमें नोहटा पुलिस द्वारा 50 ग्राम स्मेक सहित दो आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल मिली है।

पुलिस अधीक्षक डीआर तेनीवार एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शिव कुमार सिंह की उपस्थिति में बताया गया कि नोहटा पुलिस को मुखबिर द्वारा सूचना मिलने पर उनके द्वारा रानी उर्फ प्रवेश चंद्र पुत्र रमेश चंद्र मेहरा उम्र 28 वर्ष निवासी मिश्रावन महाजनी नरसिंहपुर, प्रवीण पुत्र गौरीशंकर दुबे 28 वर्ष निवासी देवरी जिला सागर से जप्त मादक पदार्थ स्मेक 50.6 ग्राम, एक स्विफ्ट कार एमपी 15 सीसी 5829 और तीन मोबाइल जिसमें सभी की कीमत लगभग 11 लाख रुपए बताई जा रही है को पकड़ने में सफलता प्राप्त हुई है। इस संपूर्ण कार्रवाई में एसडीओपी तेंदूखेड़ा अशोक चौरसिया, नोहटा थाना प्रभारी विकास चौहान, एएसआई लखन लाल कनौजिया, आरक्षक श्रीराम, सत्येंद्र दुबे, संदीप राजपूत, रोहित राजपूत, रविकांत, अनिकेत, साइबर सेल प्रभारी रमाशंकर मिश्रा, सौरभ टंडन, राकेश अठ्या, अजीत दुबे, मयूर और कुलदीप का विशेष योगदान रहा।

सूचना मिलने पुलिस और चाइल्ड लाइन टीम मौके पर पहुंची

दमोह नईदुनिया प्रतिनिधि। सागर जिले के बंडा निवासी एक नाबालिग मंगलवार की रात दमोह के सागर नाका

क्षेत्र में भटक रहा था। सागर नाका चौकी क्षेत्र में रहने वाले युवा मयंक ने सागर नाका चौकी पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही सागर नाका चौकी प्रभारी गरिमा मिश्रा व आरक्षक दीपेश शुक्ला मौके पर पहुंचे और बच्चे से जानकारी ली। जिस पर बालक ने अपने आपको सागर जिले के बंडा निवासी बताया और कहा कि वह घर से बिना बताए दमोह आ गया है। तत्काल सागर नाका चौकी पुलिस ने चाइल्ड लाइन 1098 को सूचित किया। मौके पर चाइल्ड लाइन से सदस्य राहुल सिंह, अनुज सोनी मौके पर पहुंचे और बच्चे से जानकारी लेकर स्वजनों को सूचित किया। कार्रवाई के बाद बाल कल्याण समिति सदस्य मुकेश दुबे के समक्ष बच्चे को पेश किया गया है। चाइल्ड लाइन रात्रि में बच्चे को अपने कब्जे में लेकर माता-पिता का इंतजार में है इसके बाद माता-पिता को सुपुर्द किया जाएगा। बाल न्यायालय के मनीष खरे ने बताया कि बालक के स्वजन आएंगे उसके बाद बच्चे के बारे में जानकारी लेने के बाद स्वजनों के सुपुर्द किया जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local