ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। देश की लक्जरी ट्रेनों में शुमार शताब्दी एक्सप्रेस में ग्वालियर से भोपाल बारात में शामिल होने के लिए 10 लोग बिना टिकट सवार हो गए। ट्रेन डबरा तक पहुंची थी कि टीटीई ने इन बारातियों से टिकट के बारे में पूछा। इस पर बाराती हंगामा करने लगे। हंगामा होने पर टीटीई ने वीरांगना लक्ष्मीबाई स्टेशन झांसी में आरपीएफ के जवानों को बुला लिया। जवानों को देखकर बाराती शांत हो गए और 19 हजार रुपये जुर्माना चुकाकर आगे के सफर के लिए चले गए।

जानकारी के अनुसार नई दिल्ली से रानी कमलापति स्टेशन की ओर जा रही ट्रेन नंबर 12002 शताब्दी एक्सप्रेस के सी-1 कोच में ग्वालियर से बाराती सवार हुए थे। ये सभी बाराती कमलापति स्टेशन जा रहे थे। शताब्दी एक्सप्रेस के ग्वालियर से चलने के बाद सी-1 में तैनात कोच टीटीई महेश चंद्र ने यात्रियों के टिकट चेक करना शुरु किए, पता चला कि बारात में शामिल दस बारातियों के पास टिकट ही नहीं था। सभी बिना टिकट यात्रियों ने बताया कि वे बारात में शामिल है और भोपाल जा रहे हैं। टीटीई ने जब इन सभी से जुर्माना भरकर रसीद कटवाने की बात कही, तो बिना टिकट यात्रियों के साथ ही उनके अन्य साथी भी भड़क गए और सभी ने मिलकर हंगामा शुरू कर दिया। झांसी स्टेशन पर आरपीएफ के जवान ट्रेन अटेंड करने पहुंच गए। आरपीएफ के जवानों को देखकर बारातियों के तेवर ढीले हो गए और 19 हजार रुपये की राशि जमा कर आगे के सफर के लिए रवाना हो गए।

मंगला एक्सप्रेस में 1 जून से लगेगा अतिरिक्त एसी कोचः गर्मी के मौसम में यात्रियों को राहत देने व यात्रियों को आसानी से सीट उपलब्ध कराने के लिए रेलवे ने लंबी दूरी की ट्रेनों में अतिरिक्त एसी कोच लगाने का फैसला लिया है। इसके तहत एर्नाकुलम जंक्शन से हजरत निजामुद्दीन के बीच दौड़ने वाली ट्रेन क्रमांक 12617 व 12618 मंगला एक्सप्रेस में एसी इकोनामी का एक अतिरिक्त कोच लगाया जाएगा। ट्रेन क्रमांक 12617 एर्नाकुलम-हजरत निजामुद्दीन मंगला एक्सप्रेस में एक जून से एवं 12618 में 4 जून से ये कोच जुड़ने लगेगा। एक कोच जुड़ जाने पर यह गाड़ी दो सेकंड एसी, छह थर्ड एसी, एक थर्ड एसी इकोनामी, आठ स्लीपर, दो जनरल, एक पेंट्री कार एवं दो जनरेटर कार सहित कुल 22 कोचों के साथ पटरियों पर दौड़ेगी।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close