Dengue in Gwalior: ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। डेंगू जिस रफ्तार से फैल रहा है, उतनी ही लापरवाही बरती जा रही है। पहली लापरवाही मलेरिया विभाग की जिसने समय रहते सर्वे न कराकर डेंगू को बढ़ने का मौका दिया। यही कारण है कि हर दिन डेंगू के मरीज बढ़ते जा रहे हैं। मंगलवार को आई जांच रिपोर्ट में 19 नए डेंगू के मरीज मिले, जिसमें 13 ग्वालियर के हैं। ग्वालियर में अब तक कुल 81 मरीज मिल चुके हैं। दूसरी बड़ी लापरवाही डेंगू की जांच में बरती जा रही है। जीआर मेडिकल कालेज से मरीज की जांच तब मिलती है जब मरीज स्वस्थ होकर अस्पताल से घर चला जाता है या उसकी मौत हो हो जाती है। मंगलवार को जिन 19 लोगों की रिपोर्ट आई है, उसमें से 6 मरीज तो स्वस्थ होकर घर भी पहुंच गए हैं। ग्वालियर में जिन दो मरीजों की अब तक मौत हुई है, उनकी रिपोर्ट भी मौत के तीन दिन बाद प्राप्त हुई थी।

यहां मिले डेंगू के मरीज

- डीडी नगर निवासी 15 वर्षीय किशोर किलकारी में भर्ती है।

- गोविंदपुरी निवासी 6 साल की बच्ची और मेहगांव निवासी 11 साल का बच्चा प्रयास अस्पताल में भर्ती हैं।

- विवेकनगर निवासी 14 वर्षीय किश्ाोर, मैनपुरी निवासी 18 वर्षीय युवक, शिवपुरी निवासी 30 वर्षीय युवक, रेलवे कालोनी निवासी 28 वर्षीय युवक, गायत्री विहार निवासी 53 वर्षीय व्यक्ति, रचना नगर निवासी 28 वर्षीय युवक बिड़ला अस्पताल में भर्ती हैं।

- साकेत नगर निवासी 42 वर्षीय युवक अरुण मेमोरियल अस्पताल में भर्ती है।

- न्यू रेलवे कालोनी निवासी 15 वर्षीय किशोरी, शिवपुरी निवासी 27 वर्षीय युवती, हुरावली निवासी 15 वर्षीय किशोरी चन्द्रा अस्पताल में भर्ती हैं।

- 15 वर्षीय किशोर कल्याण अस्पताल में भर्ती है।

- छतरपुर निवासी 23 वर्षीय युवती और टीकमगढ़ निवासी 10 वर्षीय बालक परिवार अस्पताल में भर्ती है।

- सात वर्षीय बच्ची अपेक्स अस्पताल में भर्ती है।

- आनंद नगर निवासी पांव वर्षीय बच्ची और शताब्दीपुरम निवासी दो साल का बच्चा शिवाजी बाल चिकित्सालय में भर्ती हैं।

- मेहगांव निवासी 11 वर्षीय बालक प्रयास अस्पताल में भर्ती है।

- विवेकनगर निवासी 14 वर्षीय किशोर अस्पताल में इलाज लेकर घर पहुंच गया है।

10 मिनट अपने घर को दें-

डेंगू से बचने का सरल उपाय अपने घर को 10 मिनट देना है। कुछ वर्ष पहले दिल्ली सरकार ने डेंगू से बचने के लिए एक फार्मूला बनाया था। जिसमें आमजन से कहा गया था कि अपने घर को हर सुबह 10 बजे, 10 मिनट दो और डेंगू से छुट्टी पाओ। इन 10 मिनट में घर के अंदर पक्षियों के लिए रखे सकोरे, एक्वेरियम, फ्लोवर पोट, गमले, पानी की टंकी, कूलर आदि का पानी हर दिन साफ करें और ताजा पानी भरें। इसके साथ ही पर्दे साफ करें तथा घर में कहीं पर भी जलभराव न होने दें तो आप मच्छर जनित बीमारियों से बचेंगे और इसका लाभ लोगों को मिला।

किस साल कितने मरीज पाए गए-

वर्ष मलेरिया डेंगू चिकिनगुनिया

2015 3443 466 5

2016 2500 707 46

2017 193 465 21

2018 421 1202 8

2019 169 370 0

2020 49 16 4

2021 8 81 0

पिछले साल से चार गुना बढ़ा डेंगू-

2020 में डेंगू के 16 मरीज मिले थे पर इस बार पिछली साल से चार गुना अधिक मरीज मिल चुके हैं। अब तक डेंगू के 81 मरीज मिले, जबकि डेंगू की रोकथाम के उपाय मलेरिया विभाग और नगर निगम के स्वास्थ्य विभाग को करना है, लेकिन दोनों के प्रयास कमजोर हैं, जरूरी है कि गली-मोहल्ले में जागरूकता फैलाई जाए तभी इसकी कुछ रोकथाम की जा सकेगी।

यह सावधानी रखें

- घर व उसके आसपास कहीं पर भी साफ पानी का भराव न होने दें।

- घर में फ्लोवर पोट, गमले, पक्षी के लिए छत पर रखे सकोरे हर दिन साफ करें।

- कूलर का पानी, पानी की टंकी, एक्वेरियम को हर दिन साफ करें।

- बच्चों को फुल कपड़े पहनाएं।

वर्जन-

वर्जन अभी देना बाकी है थोड़ी देर में देता हूं

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local