ग्वालियर (ब्यूरो)। प्रदेश के पशु पालन मंत्री लाखन सिंह यादव के विधानसभा क्षेत्र में वृद्ध किसान बुटाराम शर्मा ने बैंक की कर्ज वसूली से परेशान होकर शनिवार को जहरीला पदार्थ खाकर खुदकुशी कर ली। किसान ईटमा गांव (चीनौर) का रहने वाला है। मृतक के बेटे का आरोप है, एसबीआई बैंक की करहिया शाखा से कर्ज लिया था। अब तक वह 1 लाख 70 हजार रुपए जमा करा चुके हैं। शेष राशि की वसूली के लिए बैंक के कारिंदे पुलिस कार्रवाई करने की धमकी दे रहे थे। इस डर से पिता ने आत्महत्या की है। करहिया थाना पुलिस जांच कर रही है।

ईटमा गांव में निवासी बूटाराम (60) पुत्र लक्खा राम शर्मा ने सुबह 9 बजे के लगभग घर में ही आत्महत्या करने के इरादे से जहरीला पदार्थ खा लिया। इसके बाद उसने 3-4 कप चाय भी पी ली। हालत बिगड़ने पर परिजन किसान को जेएएच लाए, जहां रात में उसने दम तोड़ दिया। मृतक बूटाराम शर्मा के तीन बेटे, दो बेटी हैं। बेटियों की शादी हो चुकी है। बेटे अमन, दीपक व रमन शर्मा कृषि में पिता का हाथ बंटाते थे। शर्मा परिवार पर ईटमा गांव में करीब 40 बीघा जमीन है।

Gwalior Shiv Mandir: ग्वालियर किले में यहां विराजमान थे बाबा कोटेश्वर, औरंगजेब ने की ये

अदरक, काली मिर्च की फार्मिंग में इंवेस्टमेंट के नाम पर मर्चेंट नेवी इंजीनियर से ठगे 1.79 करोड़

टैंकरों से नकली दूध और बस-रेल से मावा, पनीर की दिल्ली, महाराष्ट्र तक होती है सप्लाई

कर्ज वसूली के लिये दवाब से तनाव में थे पिता

बेटे अमन का आरोप है पिता ने बैंक की करहिया शाखा से खेती के लिए कर्ज लिया था। बैंक के कुछ लोग कर्ज वसूली के लिए घर के चक्कर लगा रहे थे और पिता को पुलिस कार्रवाई करने की धमकी दे रहे थे। जबकि 1 लाख 70 हजार रुपए अभी तक जमा करा चुके हैं, 3 लाख 70 हजार रुपए बकाया हैं। कर्ज वसूली के तनाव में उसके पिता ने आत्महत्या की है। करहिया थाना पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया है।