Gwalior Weather Report: बलबीर सिंह, ग्वालियर नईदुनिया। बंगाल की खाड़ी से आया अति कम दबाव का क्षेत्र जबलपुर सागर के बीच कमजोर पड़ने लगा है, लेकिन इसके अवशेषों से बुधवार को सुबह से शहर में बादल छाए हुए हैं। काली घटाओं की वजह से धूप नहीं निकली। ठंडी हवा चल रही है। इससे उमस भरी गर्मी से राहत है, लेकिन सिस्टम अंचल के नजदीक आएगा, वैसे ही बारिश की स्थिति मजबूत होगी। बुधवार शाम तक 30 से 40 मिमी तक बारिश की संभावना है। इसके बाद रात भर बारिश का सिलसिला जारी रह सकता है।

मंगलवार काे दोपहर 15 मिनट बारिश हुई। इससे औसत बारिश का आंकड़ा 600 मिमी के ऊपर पहुंच गया। रात भर बादल छाए रहे, लेकिन हवा में नमी नहीं होने से बारिश नहीं सकी। गत दिवस अति कम दबाव का क्षेत्र पूर्वी मध्य प्रदेश में पहुंच चुका है, लेकिन यह कमजोर पड़कर कम दबाव में बदल गया है। गत दिवस शहर में इसका असर देखने को मिला। दोपहर 3 बजे गरज चमक के साथ झमाझम बारिश हुई। इससे गर्मी से राहत मिल गई। अधिकतम तापमान 33.5 डिसे पर आ गया, जो सामान्य से 0.2 डिसे कम रहा। इससे गर्मी की चुभन घट गई और उमस से भी राहत रही।

दो दिन रहेगा सक्रिय, 17 से निकलेगी धूप

-बंगाल की खाड़ी व अरब सागर में मानसून सक्रिय है। दोनों सागरों में कम दबाव के क्षेत्र बने हुए हैं। बंगाल की खाड़ी का कम दबाव का क्षेत्र उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ रहा है। 15 सितंबर को बुंदेलखंड होते हुए ग्वालियर-चंबल संभाग से गुजर सकता है।

- इस सिस्टम की वजह से ग्वालियर, दतिया, भिंड, मुरैना, शिवपुरी, गुना, अशोकनगर में मध्यम से भारी बारिश हो सकती है।

- 16 सितंबर तक यह सिस्टम सक्रिय रह सकता है, जिससे अच्छी बारिश होने के आसार हैं। 17 सितंबर से आसमान साफ हो जाएगा, तेज धूप निकलेगी।

वर्जन-

अति कम दबाव का क्षेत्र कमजोर पड़ रहा है। 15 सितंबर को सागर संभाग के आसपास रहेगा। ग्वालियर चंबल संभाग में मध्यम से भारी बारिश के आसार हैं।

वेदप्रकाश सिंह, रड़ार प्रभारी मौसम केंद्र भोपाल

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local