Pain of Gwalior Amrit: दीपक सविता, ग्वालियर नईदुनिया। बारिश का मौसम आते ही शहर की सड़कें खतरनाक हो गई हैं। बारिश के पानी के कारण शहर की सड़कों का धसकना प्रारंभ हो गया है। बुधवार को हुई बारिश के चलते सचिन तेंदुलकर मार्ग से शकुंतलापुरी की ओर जाने वाली सड़क दलदल में परिवर्तित हो चुकी है। हालात यह है कि यहां से निकलना भी मुश्किल हो चुका है। यहां पर दो साल पहले अमृत योजना से सीवर लाइन डाली गई थी, लेकिन आज तक इसका रेस्टोरेशन नहीं किया गया है। इसके कारण जगह-जगह मिट्टी धसक रही है।

शहर की सड़कों की हालत बेहद खराब है। सड़कों का पता नहीं कब धसक जाए, गाेले का मंदिर चौराहे पर बारिश का पानी बैठने के कारण सड़क धसक गई है। वहीं शिंदे की छावनी सड़क पर अमृत योजना के तहत सीवर लाइन डालने का काम चल रहा है। इसके चलते यहां पर खुदाई की गई है। साथ ही गड्ढाें को भरने के लिए सीधे मिट्टी डाल दी गई है। जबकि रेस्टोरेशन के दौरान यहां पर ठेकेदार को पहले मिट्टी, फिर गिट्टी की परत बनाकर रेस्टोरेशन करना था। यहां पर की गई खुदाई की मिट्टी पूरी सड़क पर फैली है, जो कि बारिश में फिसलन भरी हो चुकी है। ऐसे में यहां से गुजरने वाले दो पहिया वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कई लाेग यहां गाड़ी फिसलने से चाेटिल भी हाे चुके हैं। इसी प्रकार अमृत योजना के तहत शब्द प्रताप आश्रम से लक्ष्मण तलैया की ओर जाने वाली सड़क पूरी तरह से खत्म हो चुकी है। यहां पर बड़े-बड़े गड्ढे हो चुके हैं । बारिश का पानी भर जाने के कारण यहां से गुजरने वाले वाहन चालकों को इसकी गहराई का पता नहीं चल पाता है, इसके कारण यहां कभी भी हादसा हो सकता है।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local