ग्वालियर। अगर आपने जाने और वापस आने का रिजर्वेशन कराया है। अचानक आपको यात्रा रद्द करना पड़ी और आप 139 पर टिकट कैंसल करवा रहे हैं तो आने या जाने में से सिर्फ एक टिकट कैंसल करवाएं। एक टिकट ही 139 पर कैंसल होगा। दूसरा टिकट कैंसल कराने आपको रिजर्वेशन काउंटर पर ही जाना होगा। रेलवे की इस सेवा में तकनीकि खामी की वजह से प्रतिदिन लोग परेशान हो रहे हैं। इसे दूर करने के लिए डीआरएम स्तर के अधिकारियों ने खुद रेलवे बोर्ड और सेंटर ऑफ रेलवे इंफॉर्मेशन सिस्टम (क्रिस) से पत्राचार किया है। रेलवे अधिकारियों ने लोगों से अपील भी की है कि 139 के माध्यम से एक दिन में सिर्फ एक ही टिकट कैंसल करवाएं।

रेलवे ने हाल में टिकट कैंसलेशन और रिफंड के नियमों में बदलाव किया है। इससे कई लोगों को समय पर रिफंड नहीं मिल पा रहा था। इसे देखते हुए 139 पर भी टिकट कैंसलेशन की सुविधा शुरू की गई, लेकिन इसमें एक तकनीकि खामी के चलते यह सेवा लोगों के लिए परेशानी बन गई है। टिकट कैंसल कराने के लिए कोई फोन कर कंफर्म टिकट की जानकारी 139 पर देता है। उस रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) जारी होने के बाद उसी नंबर से दूसरा ओटीपी लेने के बाद भी टिकट कैंसल नहीं हो सकता। इसमें सबसे बड़ी खामी यह है कि अगर आपने उसी मोबाइल नंबर से दूसरी बार टिकट ले लिया तो दूसरा टिकट आपको बोर्डिंग स्टेशन से कैंसल कराना होगा, जो उस टिकट में दर्ज है। हाल में झांसी रेल मंडल में एक न्यायाधीश ने इस समस्या की शिकायत की। इसके बाद डीआरएम एसके अग्रवाल ने खुद रेलवे बोर्ड और क्रिस को पत्र लिखा। क्रिस को इसमें सुधार करने में डेढ़ महीना लगेगा।

ऐसे समझें परेशानीः

- 139 से टिकट कैंसल कराने के लिए मोबाइल से फोन कर पूरी जानकारी देनी पड़ती है।

- इसके बाद रेलवे द्वारा एक ओटीपी जारी किया जाता है।

- उस दिन किसी भी समय आप इस ओटीपी को नजदीकी रिजर्वेशन काउंटर पर ले जाकर अपना रिफंड ले सकते हैं।

-अगर आपने ग्वालियर से बेंगलुरू जाने और आने का टिकट कराया है तो एक बार में एक ही टिकट कैंसल कराया जा सकता है।

- आपने ग्वालियर से बेंगलुरू जाने का टिकट कैंसल कराने के लिए 139 पर फोन लगाया। मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड होने के बाद ओटीपी जारी हो गया।

- इसी मोबाइल से आपने फोन लगाकर वापसी का टिकट रद्द कराने के लिए जानकारी दे दी। आपको ओटीपी जारी हो गया फिर भी आपको रिफंड नहीं मिलेगा।

- इसके बाद बड़ी समस्या यह होगी कि आपका टिकट उसी स्टेशन के रिजर्वेशन काउंटर से कैंसल होगा, जहां से बोर्डिंग है।

वर्जन

139 पर टिकट कैंसलेशन को लेकर कुछ तकनीकि खामी है। एक मोबाइल से जनरेट ओटीपी पर पर एक ही टिकट कैंसल हो रहा है। एक ही मोबाइल से दूसरा ओटीपी जनरेट करने पर एक दिन में टिकट कैंसल नहीं होता। इसे लेकर रेलवे बोर्ड और क्रिस को अवगत करवाया है। सुधार में अभी समय लगेगा, इसलिए सिर्फ एक ही टिकट कैंसल करवाएं।

-एसके अग्रवाल, डीआरएम, झांसी रेल मंडल

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local