ग्वालियर। कर्नाटका सम्पर्कक्रान्ति एक्सप्रेस को रेलवे स्टाफ सिग्नल देना ही भूल गया। सिग्नल न मिलने से ट्रेन मेन लाइन पर रुक गई और उसमें सवार कुछ यात्री उतर गए। जब स्टॉपेज न होने के बाद भी ट्रेन ग्वालियर में मेन लाइन पर खड़ी हो गई तब रेलवे स्टाफ को अपनी गलती का अहसास हुआ। इसके बाद डिपार्चर सिग्नल दिया गया। इस लापरवाही के चलते बड़ा हादसा हो सकता था, क्योंकि ट्रेन मेन लाइन पर खड़ी हो गई और कुछ देर में उसी लाइन से मालगाड़ी गुजरने वाली थी।

हजरत निजामुद्दीन से चलकर यशवंतपुर जाने वाली कर्नाटका सम्पर्कक्रान्ति एक्सप्रेस बुधवार को सुबह 8.45 बजे निजामुद्दीन से रवाना हुई। ट्रेन निजामुद्दीन से चलने के बाद सीधे झांसी रुकती है। ग्वालियर में इसका स्टॉपेज नहीं है। ट्रेन दोपहर 1.39 बजे ग्वालियर रेलवे स्टेशन की मेन लाइन पर पहुंची। मेन लाइन पर ट्रेन पहुंची तो उसे आगे निकलने के लिए ग्रीन सिग्नल दिया जाना था, लेकिन आरआरआई स्टाफ सिग्नल देना ही भूल गया। सिग्नल न मिलने से ट्रेन मेन लाइन पर ही खड़ी हो गई। थू्र ट्रेन के खड़े होने पर परिचालन विभाग में खलबली मच गई। तब जाकर रेलवे स्टाफ को अपनी गलती का अहसास हुआ। आनन-फानन में सिग्नल दिया गया और ट्रेन रवाना हुई। इसके कुछ ही देर बाद मेन लाइन से मालगाड़ी गुजरी। अगर कुछ देर और सिग्नल न मिलता तो बड़ा हादसा हो सकता था।

यात्री भी उतर गए नीचेः

ट्रेन के रुकने पर कुछ यात्री तो ट्रेन से नीचे उतर गए। लूप लाइन पर ट्रेन आने वाली थी। जब यात्रियों को पता लगा कि ट्रेन मेन लाइन पर है तब वह वापस ट्रेन में चढ़ गए।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local