- 98वां आयोजन: 18 दिसंबर को गमक के साथ शुरू होगा समारोह, आयोजकों का दावा समय में पूरी कर ली जाएंगी तैयारियां

Tansen Celebration 2022: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। तानसेन समारोह के आगाज में महज 12 दिन शेष हैं लेकिन शहर में तैयारियों को लेकर कोई चहल-पहल नजर नहीं आ रही है । अभी तक कार्यक्रम के स्थानीय कलाकारों के चयन से लेकर प्रचार-प्रसार और साज सज्जा की व्यवस्था के मामले में कोई हलचल नहीं है । हालांकि इस आयोजन के संबंधित अधिकारियों का कहना है कि दो दिन के बाद सभी गतिविधियां शुरू हो जाएंगी ।ध्यान देने की बात यह है कि 18 दिसंबर की शाम को गमक की प्रस्तुति होनी है, इसके बावजूद आयोजन की तैयारियों का श्रीगणेश अभी नहीं हुआ है। अब इस अहम आयोजन की तैयारियों को लेकर 10-12 दिन का समय अपेक्षाकृत कम लग रहा है । बता दें कि इस आयोजन में शामिल होने के लिए देश-विदेश से लोग आते हैं, और अब तक कार्यक्रम के बारे में लोगों में जानकारी का अभाव कहीं न कहीं इस आयोजन को प्रभावित कर सकता है ।

प्रचार-प्रसार शून्य: देश-विदेश में लोकप्रिय इस आयोजन के लिए प्रचार प्रसार भी भव्य होता है । हाल ही में हुई स्थानीय समिति की बैठक में संभाग आयुक्त दीपक सिंह ने प्रचार-प्रसार पर जोर देते हुए कार्यक्रम में अधिक से अधिक रसिकों को आमंत्रित करने की बात की थी । कहा था कि इस कार्यक्रम की भव्यता को बरकरार रखने के लिए समारोह का प्रचार इंटरनेट मीडिया पर करवाने की बात कही थी । वहीं जिला कलेक्टर कोशलेंद्र विक्रम सिंह ने वायुयानों और प्रमुख रेलगाड़ियों में प्रचार-प्रसार करवाने के लिए तानसेन समारोह पर आधारित ब्राउशर रखने का सुझाव दिया था, जो अभी तक धरातल पर लागू नहीं हुआ है ।

कब होगा थीम निर्धारण:

इस कार्यक्रम में रसिक और कलाकार दोनों ही देश विदेश से आते हैं । ऐसे में अभी तक कार्यक्रम की थीम और मंच की थीम का निर्धारण होना शेष है । बता दें कि थीम का निर्धारण इस कार्यक्रम का सबसे अहम पड़ाव है । इसके आधार पर ही आयोजन की अन्यरूप रेखा तय की जाती है।

स्थानीय कलाकारों का चयन भी लंबित

गौरतलब है कि इस आयोजन में तीन स्थानीय कलाकारों की प्रस्तुति होना है । जिसके लिए पूरे जिले भर के कलाकार अपने- अपने आवेदन जमा कर चुके हैं। अब अगला पड़ाव इन कलाकारों का चयन करना होता है । 18 नवंबर तक आवेदन जमा हो चुके थे लेकिन फिर भी अभी तक स्थानीय कलाकारों का चयन नहीं हो सका है । इसका प्रभाव कलाकारों की स्वयं की तैयारियों पर भी पड़ सकता है ।

पूर्व बैठक में जो भी गतिविधियां होना तय हुई थी वह सभी मंगलवार -

बुधवार से शुरू हो जाएंगी, जिसमें चयन प्रक्रिया और प्रचार-प्रसार सभी गतिविधियां चलेंगी । निश्चिंत रहें समय रहते हुए सभी तैयारियां भी पूरी हो जाएंगी । कार्यक्रम की जो रूपरेखा तय हुई है उसी के आधार पर कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा ।

राहुल रस्तोगी, उप निदेशक, उस्ताद अलाउद्दीन खां संगीत एवं कला अकादमी

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close