ग्वालियर.नईदुनिया प्रतिनिधि। इंदौर से ग्वालियर आ रहे दंपति को सफर के दौरान गहरी नींद लेना उस समय महंगा पड़ गया। जब जनरल कोच में पहुंचे शातिर चोर दंपति को गहरी नींद में सोता देख सीट पर रखे बैग में रखें छोटे पर्स से नगदी सोना व चांदी के आभूषण पार कर ले गए। चोरों ने चोरी को अंजाम ट्रेन के शिवपुरी स्टेशन पहुंचने से पहले दिया। पीड़ित दंपति की शिकायत पर नैरोगेज पुलिस ने अज्ञात चोरों के खिलाफ शून्य पर चोरी का मामला दर्ज कर लिया। नैरोगेज थाने से मिली जानकारी के अनुसार भिण्ड निवासी रामपाल सिंह कन्नौजिया झाबुआ में पदस्थ हैं। बीते रोज वह इंदौर से ग्वालियर आने के लिए पत्नी गीता देवी के साथ इंदौर अमृतसर एक्सप्रेस के जनरल कोच डी-4 की सीट नंबर 2 व तीन पर ग्वालियर के लिए सवार हुए थे।

आधा घंटे में की चोरी

पीडि़त ने नैरोगेज पुलिस को बताया कि उनकी व पत्नी की नींद ट्रेन के गुना से गुजरने के डेढ़ घंटे बाद ही लगी थी कि इसी बीच कोच में पहुंचे चोर ने बैग में रखा छोटा पर्स जिसमें आधा लाख रुपए नगद, डेढ़ तोला वजनी सोने का मंगलसूत्र एक अंगूठी के साथ साथ ही चांदी की चार चूड़ियां व दो जोड़ी पायल बैग की चेन खोलकर चोरी कर ले गए।

पीड़िता की हालत बिगड़ी

डेढ़ लाख रुपए का माल चोरी होने का सदमा पत्नी गीता देवी सहन नहीं कर पाई और उनकी सफर के दौरान हालत बिगड़ते ही वह बेहोश हो गई, पत्नी की तबियत बिगड़ने के कारण पहले पीडित रामपाल इलाज कराने अस्पताल पहुंचे और पत्नी की सेहत में सुधार होने के बाद एफआईआर दर्ज कराने नैरोगेज थाना पहुंचे। जहां नैरोगेज पुलिस ने पीड़िता गौता देवी की शिकायत पर अज्ञात चोरों के खिलाफ चोरी का मामला दर्ज किया है।

पैरोल जंप कर बंदी फरार

हत्या व लूट के मामले में सजा काट रहा बंदी पैरोल जंप कर फरार हो गया। घटना बहोड़ापुर थाना क्षेत्र के केन्द्रीय जेल की है। बंदी के वापस नहीं आने पर जेल प्रबंधन ने थाने में शिकायत की। जिस पर पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी है। बहोड़ापुर थाना पुलिस ने बताया कि राधौगढ़ गुना निवासी बनवारी पुत्र भूरे लाल धाकड़ को वर्ष 2011 में हत्या और बंदी के पैरोल जप करने की शिकायत मिली थी। जिस पर उसके खिलाफ मामला दर्ज कर पुलिस पार्टी गुना उसकी तलाश में भेजी गई है। जल्द ही बंदी को पकड़ लेगी। जानकारी के मुताबिक आरोपित लूट के मामले में पकड़ा गया था और सजा होने के बाद उसे केन्द्रीय जेल में भेजा गया था। यहां से नौ मई को भाई भगवान सिंह की जमानत पर उसे 24 तक के लिए पैरोल पर छोड़ा गया था। 24 की देर रात तक जब वह वापस नहीं आया तो उससे संपर्क करने का प्रयास किया, लेकिन संपर्क नहीं हुआ तो उसकी लिया जाएगा। शिकायत पुलिस से की। पुलिस ने शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया है।

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close