Third Line in Gwalior: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। बानमौर से मुरैना के बीच तैयार हुए 19.23 किमी नए ट्रैक के दो परीक्षण हो चुके हैं। इस ट्रैक पर 120 से 125 किमी प्रतिघंटा की गति से ट्रेन दौड़ाकर परीक्षण किया गया है। दोनों परीक्षण में ट्रैक पास हो गया है। अब संरक्षा आयुक्त की हरी झंडी मिलने का इंतजार हैं। महीने के अंत तक संरक्षा आयुक्त से हरी झंडी मिलने की उम्मीद है। हरी झंडी मिलने के बाद ट्रेन दौड़ने लगेगी। मुरैना से बानमौर के बीच ट्रेनों को रफ्तार मिलेगी। ट्रैक खाली होने का इंतजार नहीं करना पड़ेगा।

दोनों निरीक्षण में रेल खंड के अंतर्गत आने वाले ट्रैक्शन, सिग्नल, गेट, ओएचई, ब्रिज, ट्रैक, ट्रैक-पाइंट्स आदि सभी इंस्टालेशन व उनकी कार्य क्षमता का गहनता से निरीक्षण किया गया गया। संरक्षा आयुक्त की हरी झंडी मिलने के बाद इस ट्रैक पर ट्रेनें दौड़ने लगेंगे। इससे सेक्सन की क्षमता बढ़ जाएगी। यात्री ट्रेनों को बीच में भी नहीं रोकना पड़ेगा।

धौलपुर से बीना के बीच तीसरी लाइन का निर्माण किया जा रहा है। टुकड़ों में लाइन का कार्य किया जा रहा है। डबरा-आंतरी 20 किलोमीटर, वीरांगना लक्ष्मीबाई-बबीना 25.35 किलोमीटर, बिजरौठा-ललितपुर 28.98 किलोमीटर तथा ललितपुर जाखलौन 16.58 किलोमीटर रेलखंड पर ट्रेनों का संचालन शुरू किया जा चुका है। अब बानमोर से मुरैना के बीच भी रेलखंड तैयार हो गया है।

मोटर ट्राली से भी निरीक्षण किया

तीसरी लाइन पर मोटर ट्राली से भी निरीक्षण किया। मोटर ट्राली से सभी निर्माणों की स्थिति देखी। स्टेशन, ओएचई सहित अन्य निर्माण की स्थिति देखी। मुरैना से बानमौर के बीच यदि ट्रैक पर दूसरी गाड़ी चल रही है, तीसरी लाइन से ट्रेन को निकाला जा सकेगा। मालगाड़ियों का भी संचालन भी समय पर हो सकेगा। यात्री ट्रेनों की गति को प्रभावित नहीं हो सकेगी।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close