ग्वालियर। सितंबर तक रेलवे स्टेशन पर एस्कलेटर लग जाएगा। स्टेशन पर फ्री वाई-फाई भी अगस्त से मिलने लगेगा। इन दोनों कार्यों में जो रुकावटें थीं, वह दूर हो गई हैं। जल्द से जल्द इन पर काम शुरू हो जाएगा।

यह बात शनिवार को चेम्बर ऑफ कॉमर्स में झांसी रेल मंडल के डीआरएम एसके अग्रवाल ने कही। दरअसल डीआरएम शनिवार को दो साल में रेलवे द्वारा किए गए विकास कार्यों को गिनाने के लिए शहर में थे। शहर के उद्योगपतियों के साथ आयोजित बैठक में डीआरएम ने सबसे पहले झांसी रेल मंडल की उपलब्धियां गिनाईं। इसके बाद शहरवासियों की ओर से उद्योगपतियों ने कई मांगें डीआरएम के सामने रखीं। इनमें ग्वालियर-श्योपुर नैरोगेज के सुचारू रूप से संचालन की भी मांग थी। इस पर डीआरएम ने कहा कि व्हील्स की कमी इसके संचालन में रोड़ा है। इस पर उद्योगपति आशीष वैश्य ने कहा कि रेलवे अधिकारियों द्वारा उनके प्रॉडक्ट की जांच की गई, जिसमें खामियां न होने पर भी तमाम कमियां बताई गईं। जबकि वह दार्जीलिंग तक वह नैरोगेज व्हील्स सप्लाई कर रहे हैं। इस पर डीआरएम ने कहा कि वह झांसी आए। इसी बीच अल्का माथुर ने डीआरएम से कहा कि रेलवे की सुरक्षा हेल्पलाइन सिर्फ नाम की है। इन पर सुनवाई नहीं होती। डीआरएम ने कहा कि इसकी नियमित मॉनिटरिंग होगी। इस दौरान भिंड-इटावा रेल लाइन पर सुशासन एक्सप्रेस, ओखा गोरखपुर एक्सप्रेस सहित अन्य ट्रेनों को चलाए जाने की मांग की गई।

ट्रेन को यात्री मिलेंगे तो खत्म नहीं होगा स्टॉपेजः

नई दिल्ली-बिलासपुर राजधानी एक्सप्रेस को नियमित रूप से यात्री न मिलने पर डीआरएम ने खुद शहरवासियों से अपील की कि ग्वालियरवासी इस ट्रेन का अधिक से अधिक उपयोग करें। तभी इसका नियमित ठहराव रहेगा। अगर ऐसा नहीं हुआ तो ठहराव खत्म हो सकता है।

डीआरएम ने 139 नंबर का उपयोग टिकट कैंसलेशन में न करने की अपील की। उन्होंने कहा कि 139 से टिकट कैंसलेशन सिस्टम में थोड़ी खामी है। इसलिए सुधार होने के बाद उपयोग करें। डीआरएम ने आश्वासन दिलाया कि जुलाई तक पोस्ट ऑफिस में भी रिजर्वेशन मिलने लगेगा।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local