ग्वालियर। झेलम एक्सप्रेस के स्लीपर कोच में सवार एक वृद्धा की अचानक तबीयत बिगड़ गई। उसके बेटे ने इलाज के लिए रेलवे स्टाफ की मदद मांगी। ग्वालियर में डॉक्टर को सूचित भी कर दिया गया, लेकिन ट्रेन के ग्वालियर आने से पहले ही उसकी मौत हो गई।

ग्वालियर में ही वृद्धा का शव उतारा गया। घटना रविवार की है। पुणे के काचन क्षेत्र की रहने वालीं पुष्पा बोरा (70) पत्नी शांतिलाल बोरा अपने बेटे मनोज के साथ दिल्ली गई थीं। वह दिल्ली से पुणे जाने के लिए झेलम एक्सप्रेस में सवार हुईं।

उनका रिजर्वेशन एस-6 कोच में बर्थ नंबर-49,50 पर था। ट्रेन रवाना होने के कुछ देर बाद दोनों ने खाना खाया। इसके बाद अचानक पुष्पा की तबीयत बिगड़ने लगी। तबीयत बिगड़ने पर बेटे ने उन्हें पानी दिया। पानी पीने पर वह उल्टियां करने लगीं। इसके बाद अन्य यात्रियों की मदद से रेलवे स्टाफ तक पहुंचे।

रेलवे स्टाफ से फर्स्ट एड मांगा, लेकिन उनके पास नहीं था। ट्रेन आगरा से निकल चुकी थी। इसके बाद आनन-फानन में ग्वालियर सूचित किया गया। ग्वालियर में डिप्टी एसएस कार्यालय से रेलवे डॉक्टर को सूचित किया गया। ट्रेन के आने से पहले ही रेलवे डॉक्टर पहुंच गए, लेकिन ग्वालियर पहुंचने से पहले ही पुष्पा की सांस थम गई। ग्वालियर में शव उतारा गया।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local