इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि Indore News। चाणक्यपुरी चौराहे के पास संकट मोचन हनुमान मंदिर परिसर में संचालित की जा रही गौशाला को हटाने के विरोध में मंगलवार को अहम बैठक होगी। इसमें क्षेत्रीय रहवासी और पूर्व विधायक जीतू जिराती मिलकर विरोध की रणनीति बनाएंगे। नगर निगम ने गौशाला संचालकों को नोटिस देकर तीन दिन में उनसे जमीन संबंधी दस्तावेज और अनुमतियां मांगी हैं। सोमवार को क्षेत्रीय लोगों ने भाजपा नेताओं के साथ मिलकर इस मुद्दे पर चर्चा की।

लोगों का कहना है कि जिस गौशाला को हटाने के लिए नोटिस दिया गया है, वह क्षेत्र के हजारों लोगों की आस्था सेे जुड़ी है। नगर निगम खुद अपनी गौशाला में गायों की ढंग से देखरेख तो करता नहीं है और चाणक्यपुरी चौराहे के पास स्थित गौशाला में बीमार गायों का इलाज होता है। क्षेत्र के रहवासी और भाजपा के नगर उपाध्यक्ष बबलू शर्मा ने बताया कि मंगलवार सुबह 11 बजे पूर्व विधायक के साथ इस विषय पर चर्चा होगी। जिला प्रशासन और नगर निगम के अफसरों से मिलकर उन्हें लोगों की भावनाओं से अवगत कराया जाएगा।

लोग चाहते हैं कि गौशाला यदि सरकारी जमीन पर भी बनी है, तो भी उसे नहीं हटाया जाए। उक्त गौशाला 15-20 साल पुरानी है। वहां बीमार और मरणासन्न गायों की देखभाल की जाती है और डाक्टरों उनका इलाज करते हैं। जिन गायों की हड्डी टूट जाती हैं, गौशाला में उन्हें भी लाकर ठीक किया जाता है। गौशाला करीब 10 हजार वर्गफीट जमीन पर बनी है, जहां 200 से ज्यादा गाय हैं। वहां गायों को अच्छा भोजन करवाया जाता है और रोजाना सैकड़ों नागरिक गायों को घास और रोटी आदि खिलाने आते हैं।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local