इंदौर, नईदुनिया प्र‍तिनिधि Corona News Indore। कोरोना संक्रमित महिला को 4 हजार रुपये कीमत वाला इम्युनोसीन अल्फा इंजेक्शन 60 हजार रुपये में बेचने के आरोप में खजराना थाना पुलिस ने डॉक्टर आमिर खान और एमआर इमरान खान को गिरफ्तार किया है। आरोपितों ने दवा बाजार की एक फर्म का फर्जी बिल भी बना दिया था। पुलिस ने दोनों के विरुद्ध धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है।

खजराना थाना टीआइ दिनेश वर्मा के मुताबिक कालिंदी शिवालिका कॉलोनी निवासी दवा कारोबारी जयदीप पुत्र बलराम साधवानी की शिकायत पर डॉक्टर आमिर पुत्र अंसार खान निवासी सिल्वर कॉलोनी और इमरान पुत्र बाबूखान निवासी शाहीबाग कॉलोनी को गिरफ्तार किया है। साधवानी के मुताबिक उसकी लाइफ विजन के नाम से फर्म है और अस्पताल व मेडिकल स्टोर्स पर दवा सप्लाई करता है। बुधवार दोपहर अंकिता यादव नामक महिला ने उनकी फर्म का एक बिल पेश कर कहा कि इस बीमा कंपनी में पेश करने के लिए इस पर सील और साइन आवश्यक है। जांचने पर पता चला अंकिता द्वारा पेश बिल उनकी फर्म का ही नहीं है। उस पर प्रिंट मोबाइल नंबर और ई-मेल भी फर्जी था। सामान्यतः 4 हजार रुपये में मिलने वाला इम्युनोसीन अल्फा इंजेक्शन 60 हजार रुपये में बेचा गया था।

अंकिता ने बताया उसकी बहन प्रीति रोतला रिंग रोड़ स्थित मयूर अस्पताल में भर्ती हुई थी। 25 मार्च को डॉक्टर ने इम्युनोसीन अल्फा इंजेक्शन लगाने की सलाह दी। ड्यूटी डॉक्टर आमिर ने 60 हजार रुपये में इंजेक्शन मुहैया करवाया था। साधवानी ने बिल पर प्रिंट नंबर पर कॉल किया तो इमरान से बात हुई और कहा वह इन्फोलेबल फर्म में एमआर है। पुलिस ने दोनों के खिलाफ केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के मुताबिक आमिर बीयूएमएस डॉक्टर है और मयूर अस्पताल में असिस्टेंट ड्यूटी डॉक्टर के पद पर नौकरी करता है। इसके पूर्व वह स्वर्णबाग कॉलोनी में हेल्प प्लस क्लिनिक संचालित करता था।

Posted By: Sameer Deshpande

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags