इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। प्रदेश के सबसे बड़े एमवाय अस्पताल परिसर में गोलीकांड कर भागा गैंगस्टर सलमान लाला प्रेमिका की मदद से फरारी काट रहा था। पुलिस ने जब उसको राजवाड़ा क्षेत्र से पकड़ा तो युवती फरार हो गई। सलमान के पास से एक पिस्टल और कारतूस मिला है।

चौहान नगर (खजराना) निवासी एंबुलेंस संचालक सद्दाम को गैंगस्टर सलमान लाला ने गोली मार दी थी। एक अन्य एंबुलेंस संचालक इमरान से गाड़ी खड़ी करने को लेकर विवाद चल रहा था। संयोगितागंज थाना पुलिस ने इमरान को तो पकड़ लिया लेकिन सलमान फरार हो गया। गुरुवार रात एमजी रोड़ थाना पुलिस की मदद से पुलिस ने आरोपित को राजवाड़ा क्षेत्र से पकड़ लिया। उस वक्त उसके साथ एक युवती थी। वह उसकी मदद से ही फरारी काट रहा था। बाइक पर युवती होने से पुलिस उसे रोकती नहीं थी।

सभ्रांत परिवार की युवतियों को फंसाता है गुंडा

सलमान लाला के खिलाफ एमआइजी, खजराना और विजय नगर थाना में कई केस दर्ज हैं। आरोपित सभ्रांत परिवार की लड़कियों और लड़कों को फंसा लेता है। उनके साथ पब-होटलों में ड्रग पार्टियां करता था। साकेत क्षेत्र के विवादित बिल्डर की लड़की से भी उसकी दोस्ती थी। खजराना थाना पुलिस ने तो पार्लर संचालिका की शिकायत पर लाला पर दुष्कर्म का केस दर्ज किया था।

अपराध के दलदल में उतार देता है गुंडा

पुलिस को यह भी जानकारी मिली की वह सभ्रांत परिवार के युवकों के वाहनों का वारदात में उपयोग में लेता है। बाद में उनसे ही वारदात करवाने लगता है। बदनामी और ब्लैकमेलिंग के कारण लोग उसकी शिकायत तक नहीं करते।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local