इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कांग्रेस नेता राजू भदौरिया पर हुई जिलाबदर की कार्रवाई के खिलाफ कांग्रेस नेता इंदौर संभागायुक्त कार्यालय का घेराव करने निकले। पूर्व मूख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के साथ तमाम नेताओं ने पांच किमी से लंबी विरोध रैली की अगुवाई की। रैली में भगवा झंडों के साथ करणी सेना के पदाधिकारी भी शामिल थे। ज्ञापन सौंपने से पहले दिग्विजयसिंह ने प्रशासन के अधिकारियों पर निशाना साधा। इधर संभागायुक्त कार्यालय में पुलिस के अधिकारियों ने जवानों को निर्देश दिए कि किसी भी स्थिति में कोई भी बल प्रयोग न करें।

संभागायुक्त कार्यालय में रैली में शामिल कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संंबोधित करते हुए दिग्विजयसिंह ने अधिकारियों पर निशाना साधा और कहा कि इन्हें संविधान का पालन करना चाहिये लेकिन ये भाजपा के गुलाम बन गए हैं। जिला प्रशासन के अधिकारियों को लेकर दिग्विजयसिंह ने कहा कि मुझे पता है ये कमाई के लिए क्या-क्या नहीं कर रहे हैं। मैं 10 साल मुख्यमंत्री था मुझे पता है अधिकारियों ने क्या-क्या नहीं करवाया। दिग्विजयसिंह का इशारा कलेक्टर की ओर था।

बापट चौराहे से शुरू हुई विरोध रैली में तकरीबन दो हजार लोग शामिल थे। रथनुमा गाड़ी में दिग्विजयसिंह के साथ, बाला बच्चन, सज्जनसिंह वर्मा, रवि जोशी, विजयलक्ष्मी साधौ, जीतू पटवारी, संजय शुक्ला, विशाल पटेल, कृपाशंंकर शुक्ला समेत जिला कांग्रेस अध्यक्ष सदाशिव यादव, शहर अध्यक्ष विनय बाकलीवाल और चिंटू चौकसे समेत वरिष्ठ नेता सवार थे।

दूसरे रथ में महिला कार्यकर्ता और नेत्रियां सवार थी। कई कारों और दुपहिया गाड़ियों के साथ बापट चौराहे से शुरू हुई रैली को संभागायुक्त कार्यालय तक पहुंचने में दो घंटे से भी ज्यादा का समय लगा। इस दौरान नंदा नगर, पाटनीपुरा, मालवामिल से लेकर एमजी रोड तक जाम लगा नजर आया। प्रदर्शन के दौरान एमजी रोड पर जिला कोर्ट के सामने वालेे हिस्से पर ट्रेफिक और वाहनों की आवाजाही पूरी तरह रोक दी गई थी। इसके असर से सियागंज और जवाहर मार्ग पर जाम की स्थिति बन गई और घंटों तक वाहन गुत्थमगुत्था होते रहे। कांग्रेस नेेताओं ने संभागायुक्त डॉ.पवनकुमार शर्मा को ज्ञापन सौंपा और भदौरिया पर की गई कार्रवाई को वापस लेने की मांग की। दिग्विज

जय श्री राम के नारे लगे

भदौरिया के समर्थन में दो नंबर विधानसभा के कांग्रेसियों चिंटू चौकसे, गौरव चौधरी, राजेश चौकसे समेत कांग्रेस नेताओं ने भीड़ जुटाने में पूरा जोर लगा दिया था। रैली के साथ भगवा झंडे लिए करणी सेना के पदाधिकारी भी चल रहे थे। संभागायुक्त कार्यालय में दाखिल होते ही करणी सेना के पदाधिकारियों ने जयश्री राम के नारेे भी लगाते रहे। इस बार प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने कांग्रेसियों को रोकने की कोशिश नहीं की। बैरिकेडिंग हटा दी गई। पुलिस के अधिकारियों ने लाउडस्पीकर से अपने जवानों को निर्देश दे दिए कि किसी भी स्थिति में बल प्रयोग नहीं किया जाए।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local