इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि IIM Indore Ranking। भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय ने गुरुवार को देशभर के शिक्षण संस्थानों की रैंकिंग जारी कर दी है। नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क (एनआइआरएफ) की 2021 की रैंकिंग में भारतीय प्रबंधन संस्थान (आइआइएम) इंदौर की रैंकिंग में इस वर्ष सुधार हुआ है।

संस्थान देश के प्रबंध संस्थानों में छठवें नंबर पर रहा है। जबकि पिछले वर्ष संस्थान की रैंकिंग सातवें नंबर पर थी। इस वर्ष एक पायदान की बढ़त मिली है। वहीं भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आइआइटी) इंदौर की रैंकिंग नीचे गई है। देश के प्रौद्योगिकी संस्थानों की रैंकिंग में आइआइटी इंदौर को इस वर्ष 13वां स्थान मिला है जबकि पिछले वर्ष संस्थान की रैंकिंग 10 थी। संस्थान सीधे तीन पायदान नीचे गया है। वहीं इंदौर में स्थित प्रदेश के सबसे बड़े आटोनोमस संस्थान श्री गोविंदराम सेकसरिया प्रौद्योगिकी एवं विज्ञान संस्थान (एसजीएसआइटीएस) की रैंकिंग में भी इस बार सुधार हुआ है। संस्थान प्रौद्योगिकी संस्थानों की सूची में टाप 200 के अंदर शामिल है। संस्थान को 181 रैंकिंग मिली है।

एनआइआरएफ रैंकिंग टीचिंग एंड लर्निंग, रिसर्च एंड प्रोफेशनल प्रैक्टिस, आउटरीच एंड इंक्लुसीवीटी, पर्सेप्शन और ग्रेजुएशन आउटकम के आधार पर तैयार की जाती है। इसके लिए हर वर्ष संस्थानों को आवेदन करना होता है। इसमें कई तरह के एकेडमिक और प्रशासनिक दस्तावेज भेजने होते हैं जिसके आधार पर शिक्षा मंत्रालय रैंकिंग तय करता है।

इंदौर के एसजीएसआइटीएस संस्थान के निर्देशक डा. राकेश सक्सेना का कहना है कि कुछ वर्षों से एनआइआरएफ रैंकिंग जारी होने से संस्थानों के बीच और बेहतर काम करने की भावना आई है। बेहतर स्थान बनाने के लिए कई तरह के संसाधन और सुविधाएं शिक्षण संस्थान जुटाने लगे हैं। हमारे संस्थान की रैंकिंग में भी हर वर्ष सुधार हो रहा है।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local