इंदौर। स्वच्छता सर्वेक्षण के परिणामों में इंदौर को तीसरी बार देश का सबसे स्वच्छ शहर घोषित किया गया है। दिल्ली के विज्ञान भवन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इंदौर की महापौर मालिनी गौड, नेता प्रतिपक्ष फौजिया अलीम और नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह को यह पुरस्कार सौपा। शहर को 5 हजार में से 4659.09 नंबर मिले। इंदौर को समारोह में तीन अवार्ड मिलना तय माना गया था। इनमें एक अवार्ड रैंकिंग, दूसरा फाइव स्टार रेटिंग और तीसरा अवार्ड इनोवेटिव श्रेणी के आयोजन (सैयदना की वाअज) के लिए दिया गया।

लगातार तीसरी बार स्वच्छता सर्वेक्षण में अव्वल आने पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी बधाई दी। उन्होंने कहा कि, इंदौर ने स्वच्छता सर्वेक्षण में लगातार तीन बार बाजी है। ये देश के लिए एक मिसाल है। स्वच्छता के काम को जमीन पर अंजाम देने वाले सभी स्वच्छताकर्मियों और स्वच्छाग्राहियों के योगदान के लिए, मैं उन सबको, पूरे राष्ट्र की तरफ से धन्यवाद देता हूं।

पढ़ें- Swachh Survekshan 2019 : इंदौर ऐसे तीसरी बार बना देश का सबसे स्वच्छ शहर

सर्वे के लिए जनवरी में आई दिल्ली की टीम सप्ताह भर रुकी थी

जनवरी में सर्वे के लिए दिल्ली से आई टीम ने भी सर्वे के लिए लंबा समय लिया था। सप्ताह भर टीम ने इंदौर डेरा डाला व बारीकी से सफाई का जायजा लिया। बावजूद व्यवस्था चाक-चौबंद रही और सफाईकर्मियों ने देर रात तक सफाई की।

देश के 4237 शहरों में हुआ सर्वे

शहरी विकास मंत्रालय ने 4237 शहरों में सर्वे किया है। इतने शहरों में टॉप-10 शहर का चयन मंत्रालय के लिए भी बड़ी चुनौती रही। सर्वे 5000 अंकों का है।

स्वच्छता सर्वे में नंबर वन बनने पर इंदौर नगर निगम में आतिशबाजी हुई और फिर तुरंत वहां से कचरे को साफ कर दिया गया।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags