Night Market Indore: गजेन्द्र विश्वकर्मा, इंदौर। आइटी कंपनियों की मांग पर प्रशासन ने रात में नगर के कुछ क्षेत्रों को खोलने की तैयारी कर ली है। इसे लेकर आइटी कंपनियों के समूह स्टार्ट इन इंदौर से सुझाव मंगाए थे। समूह ने एक प्रतिवेदन कलेक्टर को सौंप दिया है। इसमें कहा गया है कि वे लंदन माडल के आधार पर नगर में कुछ क्षेत्रों में रेस्त्रां, कैफे, सिनेमा, खेल गतिविधियां, संगीत कार्यक्रम चाहते हैं। यह भी कहा गया है कि रात में किन प्रतिष्ठानों को खोलना है, इसे लेकर नगर की कानून-व्यवस्था को ध्यान में रखकर प्रशासन निर्णय ले, जिससे नगर का वातावरण खराब न हो। पब और डीजे के लिए भी प्रशासन स्वतंत्र रूप से निर्णय ले सकता है कि उन्हें खोला जाना है या नहीं?

स्टार्ट इन इंदौर की संस्थापक सदस्य शानू मेहता का कहना है हमारी कंपनी में 450 से ज्यादा महिला कर्मचारी हैं, जो रात में भी कार्य करती हैं। इनके लिए रात में नगर में खाने-पीने की सुविधा नहीं मिल पाती है। इन्हें सुरक्षा के साथ प्रमुख सेवाएं मिल सकें, इसके लिए हमने कलेक्टर को विस्तार से रिपोर्ट बनाकर दी है। हमारी कोशिश है कि जिस तरह लंदन में कई क्षेत्र रात दो बजे तक खुले रहते हैं और वहां कंपनियों में कार्य करने वाले कई कर्मचारी भी बड़ी संख्या में आते हैं, अपना समय बिताते हैं, वैसा बेहतर वातावरण नगर में भी बने।

मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद हो रहा है काम

इस साल 26 जनवरी को नगर के स्टार्टअप संचालक और आइटी कंपनियों के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान इंदौर में उपस्थित थे। इस बीच आइटी कंपनियों ने रात में खाने-पीने की सुविधा नहीं मिलने की परेशानी साझा की थी। कार्यक्रम में ही मुख्यमंत्री ने कलेक्टर को इस संबंध में निर्देश दिए थे कि वे रात में भी सुरक्षा प्रबंधों के साथ बाजारों को खोलने की व्यवस्था बनाएं। इसके बाद आइटी कंपनियों के साथ प्रशासन के अधिकारियों की दो बार बैठक हो चुकी है।

इसमें पुलिस की भी अहम जिम्मेदारी होगी। जो भी रेस्त्रां, कैफे, सिनेमा और अन्य सेवाएं शुरू होंगी, उसके लिए प्रशासन को जानकारी देनी होगी। रात में बाजारों के समय को रात 3 बजे तक करने पर विचार हो रहा है। अधिकारियों ने संकेत दिए हैं कि अगले आठ-दस दिनों में नगर के कुछ क्षेत्रों में बाजारों को खोला जा सकता है।

इन जगहों पर खुल सकते हैं बाजार

जिन क्षेत्रों में सबसे ज्यादा आइटी और बीपीओ कंपनियां हैं, वहां बाजारों को खोलने पर विचार हो रहा है। इसमें विजय नगर, भंवरकुआं, 56 दुकान और इलेक्ट्रानिक्स कांप्लेक्स क्षेत्र शामिल हैं। विजय नगर क्षेत्र में तीन-चार बड़े काल सेंटर हैं, जो 24 घंटे चालू रहते हैं। इस क्षेत्र में 20 से ज्यादा आइटी कंपनियां हैं, वहीं भंवरकुआं क्षेत्र के आइटी पार्क में कई आइटी कंपनियां कार्यरत हैं।

बैठक कर निर्णय लेंगे

रात में कुछ बाजारों को खोलने के लिए शासन स्तर पर अनुमति मिल गई है। आइटी कंपनियों से इस संबंध में प्रस्ताव मंगवाए गए थे। अब सांसद आइटी कंपनियों और स्टार्टअप प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर इस पर निर्णय लेंगे। इसमें नगर निगम और पुलिस को भी साथ में लिया जाएगा।

- मनीष सिंह, कलेक्टर

क्या है लंदन नाइट इकोनामी

लंदन में इकोनामी को बढ़ाने के लिए कुछ प्रयोग किए गए हैं। जिसके तहत शाम पांच बजे से रात दो बजे तक कुछ क्षेत्रों में बाजार खुले रखे जाते हैं। यहां खाने-पीने की दुकानें, कैफे, बस और लोकल रेल भी रात तक चलती है। इससे रात में काम करने वाले कंपनियों के कर्मचारियों को सब सुविधा मिल जाती है। साथ ही लोग अपनी कमाई बढ़ाने के लिए सुविधा अनुसार दो शिफ्ट में भी काम कर सकते हैं। शहर में भी आइटी कंपनियों के कर्मचारियों को सुविधा देने के साथ इकोनामी को बढ़ाया जा सकता है।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close