Indore Update : इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। विश्व आदिवासी दिवस पर मंगलवार को इंदौर में आदिवासी युवाओं ने रैली निकाली। यह रैली लालबाग से शुरू हुईं और कलेक्टर कार्यालय होते हुए भंवरकुआं (टंट्या भील चौराहा) पहुंची। इसमें करीब 50 हजार युवा शामिल हुए।

इंदौर में डिलीवरी ब्वाय हत्याकांड में खुलासा, पांच नाबालिग गिरफ्तार

इंदौर। बाणगंगा थाना क्षेत्र में हुए डिलीवरी ब्वाय सुनील वर्मा की हत्या में पुलिस ने मंगलवार को खुलासा कर दिया है। मामले में बाणगंगा पुलिस ने पांच नाबालिगों को गिरफ्तार किया है। सुनील स्कीम-78 से पार्सल लेकर करोलबाग जा रहा था। इस दौरान कुमेड़ी रोड पर नशा कर रहे नाबालिग आरोपितों ने सुनील को लूटने की नीयत से रोका। इस दौरान आरोपितों ने सुनील पर हमला कर उसे चाकुओं से गोद दिया, जिससे उसकी मौत हो गई।

इंदौर में टैंकर ने बाइक सवार युवक को रौंदा, मौके पर ही मौत

इंदौर। तेजाजी नगर थाना क्षेत्र में मंगलवार सुबह दर्दनाक हादसा हो गया। बाइक से जा रहे एक युवक को टैंकर सवार ने रौंद दिया। हादसे में युवक की मौके पर ही मौत हो गई। तेजाजी नगर थाना क्षेत्र स्थित लोटस कालोनी में विशाल तिवारी नामक युवक बाइक (एमपी 12एन 2251) से जा रहा था। इसी दौरान टैंकर (एमपी 09 एचएच 8067) के चालक ने लापरवाहीपूर्वक गाड़ी चलाते हुए बाइक सवार को टक्कर मार दी। टक्कर लगते हुए युवक बाइक सहित गिर गया और टैंकर का पहिया युवक के ऊपर से गुजर गया। टैंकर अंबिका ट्रांसपोर्ट का बताया जा रहा है।

करोड़ों रुपये की धोखाधड़ी में एक और गिरफ्तार

इंदौर। शराब ठेकेदारों के साथ हुई करोड़ों रुपये की धोखाधड़ी के मामले में एक और आरोपित को पुलिस ने रीवा से गिरफ्तार किया है। विजय नगर पुलिस थाने में ठेकेदारों की शिकायत पर छह करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का केस दर्ज हुआ था। शराब कंपनी से जुड़े छह कर्मचारी आरोपित बने थे। पुलिस के अनुसार गिरफ्तार आरोपित का नाम विनीत चतुर्वेदी है। मामले में अब पुलिस एक अन्य फरार आरोपित की तलाश में जुटी है।

मार्निंग वाक के दौरान मारी गोली, जांच में जुटी पुलिस

इंदौर। मार्निंग वाक पर निकले एक व्यक्ति को अज्ञात बाइक सवार बदमाशों ने गोली मार दी। मामले में पुलिस जांच में जुटी है। देपालपुर तहसील के आकासोद गांव के सुरेश चौहान को मार्निंग वाक के दौरान रविवार सुबह अज्ञात बदमाशों ने गले में गोली मार दी। उन्हें इंदौर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। आपरेशन के बाद डाक्टरों ने गोली निकाल ली है। फिलहाल उनकी हालत खतरे से बाहर है। हालांकि बोल नहीं पाने के कारण पुलिस अभी मामले में उनके बयान नहीं ले पाई है। वे किसान हैं और प्रापर्टी का भी काम करते हैं। देपालपुर थाना प्रभारी मीना कर्णावत ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं। अभी हमलावरों के बारे में सुराग नहीं मिला है।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close