इंदौर, विशेष प्रतिनिधि। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने अपने बेटे विधायक आकाश विजयवर्गीय के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई टिप्पणी को राजीतिक जीवन के लिए सीख देने वाली बताया। उन्होंने कहा कि मोदीजी मेरे लिए पिता तुल्य और आकाश के लिए पितामह की तरह हैं। उनकी डांट भी आकाश के राजनीतिक जीवन के लिए महत्वपूर्ण है। इससे सुधार ही होगा। सोशल मीडिया पर पद से इस्तीफा देने की सूचनाओं को उन्होंने अफवाह बताया।

नगर निगम द्वारा जर्जर घोषित मकान को तोड़ने की कार्रवाई नहीं रोकने से नाराज आकाश विजयवर्गीय ने क्रिकेट के बल्ले से निगम अधिकारियों की पिटाई कर दी थी। दो जुलाई को दिल्ली में आयोजित संसदीय दल की पहली बैठक में प्रधानमंत्री ने बगैर आकाश का नाम लिए घटना की तीखे शब्दों में निंदा की थी। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने बुधवार को इस मुद्दे पर 'नईदुनिया' से चर्चा की।

इंदौर में हुई घटना पर प्रधानमंत्री ने बेहद सख्त टिप्पणी की, आप क्या कहेंगे?

- प्रधानमंत्री हमारे परिवार के मुखिया हैं। मेरे लिए पिता तुल्य और आकाश के लिए पितामह समान हैं। उन्होंने डांट भी दिया तो उसमें कोई बुराई नहीं। परिवार के मुखिया को यह अधिकार होता है कि वे गलती करने पर टोके, उसमें सुधार के लिए कहे। उनकी डांट से भी सुधार ही होगा।

यह आरोप लगाया जा रहा है कि आप भी बेटे के समर्थन में खड़े हैं?

- मैंने कभी नहीं कहा कि आकाश ने ठीक किया। मैंने तो पहले ही बताया था कि आकाश और निगमायुक्त दोनों ही कच्चे खिलाड़ी हैं। यह भी कहा था कि घटना दुर्भाग्यपूर्ण है और इसकी पुनरावृत्ति नहीं होनी चाहिए। घटना भले ही तात्कालिक आवेश में घटी हो, लेकिन जो गलत है, वो तो गलत ही है। उसका समर्थन नहीं किया जा सकता।

राजनीतिक हलकों में यह कयास लगाए जा रहे हैं कि आप पद से इस्तीफा दे देंगे?

- ये सिर्फ अफवाहें हैं। मेरे इस्तीफे का सवाल ही नहीं उठता। मैं पार्टी का सिपाही हूं और पार्टी के लिए हमेशा काम करता रहूंगा।