Karwa Chauth New Trend: हर्षल सिंह राठौड़, इंदौर। करवाचौथ व्रत वह त्योहार है, जिसका भारतीय महिलाओं को वर्षभर इंतजार रहता है। इस व्रत के प्रति उनकी आस्था और पति के लिए समर्पण के भाव का ही यह प्रमाण है कि 21वीं सदी की आधुनिक नारी भी यह व्रत पूरे विश्वास से रखती है। पति भी अपनी पत्नी के लिए इस दिन खास उपहार लेकर उसे देता है, लेकिन कोरोना महामारी ने पत्नी को दिए जाने वाले उपहारों में आभूषणों के साथ प्रापर्टी, स्वास्थ्य बीमा, म्युचुअल फंड, गोल्ड बांड को भी शामिल कर दिया है। सोने की चमक से खुश हो जाने वाली मानसिकता अब निवेश की चांदनी ओढ़ने लगी है।

गृहलक्ष्मी को गृहस्वामिनी का दर्जा दिलाने की सोच अब उन्हें सही निवेश के जरिए आत्मनिर्भर भी बना रही हैं। इस करवाचौथ पर शहर में ऐसे उदाहरण सामने आए, जिसमें पति ने करवाचौथ के उपहार स्वरूप पत्नी को निवेश का उपहार दिया है ताकि जो उनकी सलामती के लिए हर पल सोचती है उसका वर्तमान और भविष्य बेहतर हो सके।

फ्लैट का तोहफा : भविष्य के लिए सहेज ली है पूंजी

एडवोकेट तनुज दीक्षित ने पत्नी डा. चेतना को इस करवाचौथ पर निवेश के नजरिए से दो तोहफे दिए। पहला तोहफे में पारंपरिक रूप से सोने का आभूषण तो शामिल है ही, लेकिन इससे अलग हटकर उन्होंने फ्लैट खरीदकर भेंट किया है। तनुज कहते हैं कि महामारी के इस दौर में जब पूरा परिवार कोरोना की चपेट में आया तो अहसास हुआ कि उपहार ऐसा हो जो वक्त-बे-वक्त मददगार भी साबित हो। चूंकि पत्नी का यह पहला करवाचौथ है इसलिए इस बार फ्लैट खरीदा ताकि भविष्य के लिए कुछ पूंजी सहेजी जा सके। एक कारण यह भी रहा कि पत्नी भी सक्षम महसूस करे।

गोल्ड बांड : वक्त ने सिखा दिया सही निवेश जरूरी है

व्यवसायी निकेत मंगल ने पत्नी प्रिया को सोना ही भेंट किया है, लेकिन यह सोना पहनने के काम का नहीं बल्कि निवेश के रूप में है। इन्होंने पत्नी को गोल्ड बांड तोहफे के रूप में दिए हैं। वे बताते हैं कि बीते दो वर्षों में महामारी के बीच गुजरे कठिन समय ने हमें समझा दिया है कि सही निवेश कितना जरूरी है।

स्वास्थ्य बीमा : कोरोना ने सिखाया सेहत सबसे अहम

व्यवसायी प्रकाश नारायण डयोडिया ने करवाचौथ के उपलक्ष्य में पत्नी सीता को 10 लाख रुपये की स्वास्थ्य बीमा पालिसी का तोहफा दिया। वे बताते हैं महामारी का दौर और बढ़ती उम्र ने यह बात समझा दी कि सही निवेश, सेहत व सामंजस्य कितना जरूरी है। यदि सेहत और एक-दूसरे का साथ रहे तब ही सुख-सुविधाएं काम आती हैं।

प्रापर्टी की 35 प्रतिशत बुकिंग पत्नी के नाम से

महामारी के पहले तक करवाचौथ पर पत्नी के नाम से प्लाट, फ्लैट में निवेश को लेकर महज पांच-सात प्रतिशत तक का ही रुझान था लेकिन इस बार यह 30 प्रतिशत का आंकड़ा पार कर गया है। पिछले पांच दिनों में ही शहर में 150 से अधिक फ्लैट और रोहाउस की बुकिंग हुई है। कुल बुकिंग में से 35 प्रतिशत से अधिक बुकिंग लोगों ने अपनी पत्नी के नाम पर कराई है।

20 से 60 लाख रुपये तक की प्रापर्टी लोगों ने करवा चौथ के उपलक्ष्य में पत्नी को उपहार में दी है। विजय गांधी, बोर्ड सदस्य क्रेडाई

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local