इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। सख्ती के बाद भी लव जिहाद के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। इंदौर शहर में ताजा मामला सामने आया है, जिसमें युवक ने खुद का धर्म छुपाते हुए युवती से दोस्ती की और उससे दुष्कर्म किया। एमजी रोड थाना पुलिस ने कंपनी सेक्रेटरी अहमद फैज को दुष्कर्म, ब्लैकमेलिंग और मप्र धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम 2021 की धाराओं में गिरफ्तार किया है। आरोपित ने एक बड़े होटल में नौकरी करने वाली कंपनी सेक्रेटरी से खुद का नाम अमन बताकर दोस्ती की और शारीरिक संबंध बना लिए। सगाई होने पर आरोपित ने इंटरनेट मीडिया पर रिश्तेदारों को अश्लील फोटो व वीडियो भेज कर युवती को ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया।

ब्लैकमेल करने के लिए पीड़िता के निर्वस्त्र फोटो व वीडियो बनाए : टीआइ धर्मवीरसिंह नागर के मुताबिक मूलत: शिकारपुरा(बुरहानपुर) निवासी 24 वर्षीय पीड़िता न्यू सियागंज स्थित एक कोचिंग संस्थान में पढ़ाई करती थी। इस दौरान साथ पढ़ने वाले अहमद फैज पुत्र शहनाज अहमद निवासी आदर्श नगर देवास ने अमन नाम से दोस्ती की और उससे मिलने लगा। पीड़िता का आरोप है कि फैज ने एक बार शीतल पेय में नशीला पदार्थ मिलाकर पिलाया और शारीरिक संबंध बना लिए। उसने ब्लैकमेल करने के उद्देश्य से पीड़िता के निर्वस्त्र फोटो व वीडियो भी बना लिए। पांच माह पूर्व पीड़िता को पता चला कि अमन नाम से बातचीत करने वाला युवक धोखेबाज है और उसका असली नाम अहमद फैज है।

आपत्तिजनक फोटो व वीडियो भेजकर युवती की सगाई तुड़वाई

पीड़िता ने स्वजन को पूरा घटनाक्रम बताया और फैज से बातचीत बंद कर दी। उसने 15 दिन पूर्व बुरहानपुर में रहने वाले युवक से सगाई कर ली और स्वजन शादी की तैयारी में जुट गए। इसी बीच फैज ने पीड़िता पर मिलने के लिए दबाव बनाया और मंगेतर को इंटरनेट मीडिया पर आपत्तिजनक फोटो व वीडियो भेज दिए। सगाई टूटने पर पीड़िता माता-पिता के साथ शिकारपुरा थाना पहुंची और आरोपित के खिलाफ केस दर्ज करवा दिया। शनिवार सुबह एसआइ टीना लाड़ ने देवास में छापा मारा और अहमद फैज को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उसका मोबाइल और लैपटाप भी बरामद कर लिया है।

पूजा पाठ और रक्षासूत्र बताकर झांसा देता रहा आरोपित

पुलिस को पीड़िता ने बताया कि फिलहाल वह विजयनगर स्थित सितारा होटल में नौकरी करती है। दो साल पूर्व वह महालक्ष्मीनगर स्थित फ्लैट में किराए से रहती थी। फैज उससे पूजा-पाठ व रक्षासूत्र दिखा कर झांसा देता था। दो साल वह साथ रहा और कभी शक नहीं हुआ। पांच माह पूर्व उसके धर्म (मुस्लिम) व नाम (फैज) की जानकारी मिली तो बातचीत बंद कर दी। फैज बौखला गया और एसएमएस कर धमकाने लगा कि मैं बदनाम कर दूंगा। होटल व फ्लैट वाले फोटो वायरल करने की धमकी देने लगा।

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local