Metro in Indore: इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। अगस्त के अंत में हमें इंदौर में ट्रायल करना है, एक- एक दिन महत्वपूर्ण है। यह समय फील्ड में उतरकर काम करने का है, तुम आफिस में बैठ कर आराम कर रहे हो। ऐसे कैसे चलेगा। मुझे सब स्तर से तुम्हारी शिकायतें मिल रही हैं। काम में देरी करेंगे तो चल नहीं पाएगा। टाइम लाइन में किसी तरह का बदलाव अब संभव नहीं है। मैं भोपाल जाकर आपको नोटिस दूंगा। निकाल दिया तो कहीं नौकरी भी नहीं मिलेगी। इसलिए अपने काम में सुधार कर लो।

कुछ इस अंदाज में मप्र मेट्रो रेल कारपोरेशन लिमिटेड के प्रबंध संचालक मनीष सिंह ने सीनियर डीसीएम श्रवण बालेम को फटकार लगाई। मनीष सिंह शनिवार को इंदौर के गांधीनगर में बन रहे मेट्रो डिपो का निरीक्षण करने पहुंचे थे। यहां उन्होंने करीब ढाई घंटे से अधिक समय तक दौरा किया। इतना ही नहीं डिपो में सामान सप्लाई करने वाले वेंडरों से सीधे फोन कर चर्चा की। उन्होंने सभी वेंडरों से कहा कि आप किसी भी तरह की परेशानी में सीधे मुझे काल करें। अब हमारे पास कम समय है।

क्वालिटी में गिरावट नहीं होनी चाहिए

सुबह करीब 11 बजे मनीष सिंह मेट्रो डिपो में पहुंचे। उन्होंने निर्माणाधीन -इंस्पेक्शन वे, स्टेब्लिंग लाइन, आक्ज़िलरी सब स्टेशन, रिसीविंग सब स्टेशन, एडमिन बिल्डिंग समेत कई निर्माण कार्यों को देखा। इंस्पेक्शन वे, स्टेब्लिंग लाइन का निरीक्षण करते हुए उन्होंने वेंडर कंपनी के अधिकारी को फोन लगाकर कहा कि हमारा शेड फरवरी के अंत तक तैयार हो जाएगा। मई के अंत तक ट्रेनें आना शुरू हो जाएंगी। आप जल्द ही सामान सप्लाई करें। क्वालिटी में कोई गिरावट नहीं होनी चाहिए।

आप लोग लखनऊ जाकर काम देखकर आइए...

इंदौर में काम देख रहे अधिकारियों से एमडी ने कहा कि आप लोग लखनऊ जाकर काम देखकर आइए। जहां फैक्ट्रियों में यह सामान बन रहा है, वहां पर जाकर देखिए। गुणवत्ता में कोई दिक्कत न आए इसका ध्यान रखें। एमडी ने यहां बन रहे सब स्टेशन और कंट्रोल सेंटर का निरीक्षण भी किया। इस दौरान मेट्रो कंपनी के जीएम केसी चौहान, प्रोजेक्ट डायरेक्टर अनिल जोशी सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

बाउंड्रीवाल बनाने के लिए लेबर बढ़ा दो

एमडी सिंह करीब दो किलोमीटर पैदल चलकर डिपो के दूसरे छोर पर पहुंचे। यहां पर ट्रेन नीचे आकर यार्ड में जाएगी। अधिकारियों ने बताया कि बाउंड्रीवाल का काम जरूरी है। बिजली की उच्चदाब की लाइनें बिछाई जाएंगी। अगर बाउंड्रीवाल नहीं हुई और गलती से कोई जानवर आ गया तो फाल्ट हो जाएगा। एमडी ने लेबर बढ़ाकर जल्द काम करने के लिए कहा। अधिकारियों ने पाइल के दौरान जमीन में पत्थर आने से परेशानी होने की बात कही तो एमडी ने कहा कि आप नई तरह की मशीनें लाएं, लेकिन काम तेजी से करें।

प्रदेश में काम नहीं कर सकोगे

कास्टिंग यार्ड के निरीक्षण में कांट्रेक्टर यूआरसी कंस्ट्रक्शन कंपनी, चेन्नई के अधिकारियों को लापरवाही बरतने और स्टेशन के प्री-कास्ट पाइ गर्डर के निर्माण की धीमी प्रगति के लिए कारण बताओ नोटिस जारी करने के आदेश दिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश के दोनों मेट्रो प्रोजेक्ट भोपाल तथा इंदौर में उनको दिए गए लक्ष्यों को अगर समय पर पूर्ण नहीं किया गया तो कंपनी को प्रदेश में प्रतिबंधित कर दिया जाएगा।

भुगतान में देरी न हो

निरीक्षण के दौरान उन्होंने यहां काम कर रहीं विभिन्न कंपनियों के अधिकारियों से परेशानी के बारे में पूछा। एक कंपनी के अधिकारी ने 20 प्रतिशत भुगतान में देरी की बात कही तो एमडी सिंह ने तत्काल भोपाल फोन लगा कर भुगतान करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि भुगतान अगर समय से होता रहेगा तो काम के प्रति उत्साह बना रहेगा।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close