इंदौर (ब्यूरो)। विजय नगर थाने में पदस्थ एसआई को एसपी ने मंगलवार दोपहर निलंबित कर दिया। एसआई शराब के नशे में एक युवक के फ्लैट में घुस गया और उसकी बहन से शारीरिक संबंध बनाने का दबाव बनाने लगा। दोषी एसआई के खिलाफ विभागीय जांच भी शुरू कर दी है।

एसपी (पूर्वी) मो. युसूफ कुरैशी के मुताबिक, प्रारंभिक जांच में खुलासा हुआ कि एसआई राकेश कुमार ट्रेनिंग के लिए भौंरी गया था। इस दौरान उसने सरकारी पिस्टल थाने में जमा नहीं कराई। भौंरी से आने के बाद उसने अभी थाने पर आमद भी नहीं दी थी। मेडिकल रिपोर्ट में शराब पीने की पुष्टि हुई है। मंगलवार को थाने से मिली रिपोर्ट के आधार पर एसआई राकेश को निलंबित कर दिया गया। विजय नगर सीएसपी हरीश मोटवानी को जांच करने के आदेश दिए गए हैं। उधर पीड़ित युवक देवल सिंह मंगलवार को एसएसपी रुचि वर्धन मिश्र के पास पहुंचा और पूरी घटना की शिकायत दर्ज कराई।

युवक ने विरोध किया तो 20 हजार रुपए मांग रहा था एसआई

गौरतलब है कि घटना लसूड़िया थाना क्षेत्र स्थित गोल्डन पॉम सिटी में रविवार रात करीब 2 बजे की है। एसआई भी इसी बिल्डिंग में रहता है। पीड़ित देवल सिंह रीवा का रहने वाला है। वह निजी कॉलेज में बीबीए कर रहा है। वह उसकी बहन को लेकर आया था। एसआई ने युवती को देख लिया और देवल को धमकाकर युवती से संबंध बनाने का दबाव डाल रहा था।

ये था मामला

घटना रविवार रात 2 बजे लसूड़िया थाना क्षेत्र के गोल्डन पॉम सिटी में हुई। विजय नगर थाने में पदस्थ आरोपित एसआई राकेश कुमार के खिलाफ देवलसिंह बघेल ने शिकायत दर्ज कराई है। शिकायत में देवल सिंह ने बताया कि एसआई राकेश उसके ऊपर वाले फ्लैट में रहता है। उसने उन्हें लिफ्ट में जाते देख लिया और फ्लैट में आ धमका। उसने देवल से कहा - मैं छोटा-मोटा पुलिसवाला नहीं बल्कि थानेदार हूं। फिर उसने पूछा कि कमरे में कौन सो रहा है। इस पर देवल ने बताया कि उसकी बहन आई है।

इस पर एसआई ने कहा - झूठ बोल रहे हो, तुम कॉलगर्ल लेकर आए हो। इसके बाद एसआई युवती से शारीरिक संबंध बनाने पर अड़ गया। देवल ने उसे समझाया तो बोला- मैं जांच करूंगा। उसने युवती से भी पूछताछ की। इतना ही नहीं उसने देवल से 20 हजार रूपयों की मांग की। देवल ने इंकार किया तो कहा मुझे पैसा या लड़की दोनों में से एक तो चाहिए। इस पर एसआई ने मारपीट शुरू कर दी। इसके बाद देवल ने डायल 100 पर कॉल कर पुलिस को बुला लिया। इस पर एसआई ने अपनी सर्विस पिस्टल दिखाते हुए धमकाया कि 6 गोली मार दूंगा। पुलिस ने उसे हिरासत में लिया तो अपने बचाव में एसआई ने कहा कि छात्रों के बारे में शिकायत मिलती थी। रात में संदिग्ध अवस्था में दिखने पर वह पूछताछ करने गया था। फिलहाल आरोपित पुलिस को सस्पेंड कर लाइन भेज दिया गया है।

Posted By: Rahul Vavikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags