इंदौर। पटना में सुपर-30 के जरिए गरीब बच्चों का आईआईटी में पढ़ने का सपना पूरा करने वाले आनंद कुमार आज इंदौर में थे। संस्था सार्थक द्वारा देवी अहिल्या विश्वविद्यालय के ऑडिटोरियम में आयोजित किए गए कार्यक्रम में सुपर-30 के असल हीरो आनंद कुमार ने न सिर्फ अपने ऊपर बनी फिल्म का प्रमोशन किया, बल्कि सैंकड़ों बच्चों को अपने सपने पूरे करने की राह भी दिखाई।

कार्यक्रम में पहुंचे बच्चों को आनंद कुमार ने सुपर-30 के अस्तित्व में आने की कहानी से लेकर उसके यहां तक आने के सफऱ का पूरा किस्सा सुनाया। उन्होंने फिल्म सुपर-30 से जुड़ी कहानी सुनाते हुए कहा कि, जैसे ही फिल्म का ट्रेलर सामने आया तो उनके पास कई ऐसे छात्रों का फोन आया जो कभी सुपर-30 का हिस्सा थे और आज ऊंचे ओहदे पर हैं। आनंद कुमार ने बताया कि, ट्रेलर देखने के बाद जिन बच्चों के फोन आए, उनकी आवाज लड़खड़ा रही थी, रूंधे गले से उन्होंने अपने संघर्ष की कहानी को याद किया।

आनंद कुमार ने छात्रों को सीख दी कि जिंदगी में कठिनाईयों से वो कभी न घबराएं। जो सपना देखा है, उसे पूरा करने के लिए जी तोड़ मेहनत करें। रात जितनी काली और गहरी होगी, सुबह उतनी ही सुनहरी होगी। इस दौरान संस्था सार्थक के पार्षद टीनू जैन भी मौजूद रहे।

Posted By: Saurabh Mishra

NaiDunia Local
NaiDunia Local