Health Tips: इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। सेहतमंद रहने के लिए ओमेगा 3, 6 और 9 बहुत लाभदायक होता है। इनकी कमी से कई प्रकार की शारीरिक परेशानियां हो सकती हैं इसलिए इनकी पूर्ति आवश्यक है। लोग इनकी पूर्ति के लिए कई बार दवाओं का सेवन करते हैं जबकि कई खाद्य पदार्थ ऐसे होते हैं जिनमें यह पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। बात अगर ओमेगा 3 फैटी एसिड की बात करें तो इससे कोलेस्ट्राल, ट्राइग्लिसेराइड और रक्तचाप का स्तर नियंत्रित रहता है। इससे दिल की सेहत अच्छी बनी रहती है। इसके अलावा अवसाद, पार्किंसंस जैसे रोगों से भी बचाव हो सकता है और मानसिक सेहत भी बेहतर रहती है। वजन कम करने में भी यह सहायक होता है।

आहार व पोषण विशेषज्ञ डा. आरती मेहरा के अनुसार ओमेगा 3 सैल्मन मछली़, चिया सीड्स, अखरोट, अलसी के बीज आदि में होता है। ओमेगा 6 और ओमेगा 9 फैटी एसिड भी बहुत लाभदायक होते हैं। इससे हृदय संबंधित रोग से बचाव होता है, हड्डी मजबूत होती हैं और बालों की जड़ें भी मजबूत होती हैं। इसके अलावा कम उम्र में आंखों से संबंधित समस्या नहीं होती। जिनका रक्तचाप उच्च रहता हो उनके लिए ओमेगा 6 और ओमेगा 9 का सेवन बहुत लाभदायक सिद्ध होता है। जहां तक इनके स्त्रोत की बात है तो सूरजमुखी के बीजों और इससे तैयार तेल में ओमेगा 6 और 9 फैटी एसिड अधिक मात्रा में मौजूद होता है।

यदि आप चाहते हैं कि शरीर में इस फैटी एसिड की कमी से हार्ट डिजीज ना हो, तो आप सूरजमुखी के बीजों को सुखाकर इसका पाउडर बनाकर सेवन करें। इस तेल में ही भोजन बनाएं। साथ ही ओमेगा-6 फैट्स कार्न आइल, बादाम, काजू, सोयाबीन का तेल, अखरोट, कद्दू के बीजों में भी मौजूद होता है। ओमेगा 9 फैटी एसिड्स के मुख्य स्रोत सब्जियां और बीजों से तैयार तेल है। इसके अलावा नट्स, बीज में भी ये मौजूद होते हैं।

मूंगफली का तेल, जैतून का तेल, काजू से तैयार तेल, बादाम का तेल, एवोकाडो आइल, बादाम, काजू, अखरोट आदि में यह रहता है। ओमेगा 3, 6 और 9 फैटी एसिडस का सेवन किस मात्रा में करें, किन लोगों को इसका सेवन करना चाहिए, किन्हें इसके सेवन से बचना चाहिए, इन सभी बातों की जानकारी विशेषज्ञ से लेकर ही इन्हें भोजन में शामिल करें।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close