इंदौर। रेलवे इसी साल इंदौर से लखनऊ-पटना होते हुए गुवाहाटी तक "हमसफर" एक्सप्रेस चलाएगा, जिसके सभी कोच थर्ड एसी होंगे। यह हर सोमवार को इंदौर से चलेगी। इंदौर में वॉशिंग पिट लाइन का काम अक्टूबर तक पूरा होने की उम्मीद है। काम पूरा होने के सप्ताहभर में गुवाहाटी ट्रेन शुरू कर दी जाएगी। इंदौर रेलवे स्टेशन पर भी यात्रियों की सुविधा के लिए फ्री वाई-फाई की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।

यह घोषणा मंगलवार को इंदौर में केंद्रीय रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने की। मंत्री ने इंदौर में लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन के साथ सप्ताह में दो दिन चलने वाली इंदौर-पुणे एक्सप्रेस और साप्ताहिक इंदौर-कोचुवेली एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इससे पहले महू में दोनों अतिथियों ने महू-इंदौर के बीच डेमू ट्रेन को भी हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। यह ट्रेन दोनों शहरों के बीच दिनभर में सात फेरे लगाएगी।

मंत्री ने कहा कि सितंबर तक इंदौर में दो एस्केलेटर और दो लिफ्ट लगा दिए जाएंगे। दिसंबर तक एस्केलेटर की संख्या चार कर दी जाएगी। उन्होंने भरोसा दिया कि राजस्थान की कनेक्टिविटी और बेहतर करने के लिए रेलवे पूरी कोशिश करेगा। रतलाम का 'क्यू" सेक्शन बनकर तैयार है, जिससे फतेहाबाद-रतलाम होते हुए राजस्थान के लिए नई ट्रेन चलाई जा सकती है। जैसे ही कमिश्नर रेलवे सेफ्टी 'क्यू सेक्शन" पर ट्रेन संचालन की अनुमति दे देंगे, फतेहाबाद-रतलाम होते हुए राजस्थान तक ट्रेन चलाने का रास्ता साफ हो जाएगा।

मार्च तक पूरा होगा इंदौर-महू लाइन का विद्युतीकरण

रेल राज्यमंत्री ने कहा कि इंदौर-महू के बीच बिछाई गई बड़ी लाइन का विद्युतीकरण मार्च-17 तक पूरा कर लिया जाएगा। इसके बाद वर्तमान में चलाई जा रही डेमू (डीजल मल्टीपल यूनिट) ट्रेन की जगह रेलवे इंदौर-महू रूट पर ईएमयू (इलेक्ट्रिकल मल्टीपल यूनिट) ट्रेन चलाएगा। मंत्री ने बताया कि मध्य प्रदेश की रेल परियोजनाओं के लिए 2015-16 में 3561 करोड़ और 2016-17 में 4325 करोड़ रुपए की राशि मंजूर की गई है।

स्पीकर बोली- आज मैं कुछ नहीं मांगूंगी

लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने कहा कि हमें ऐसे मंत्री मिले हैं, जिन्होंने आते ही गुवाहाटी ट्रेन चलाने का एलान कर दिया, इसलिए आज मैं उनसे और कुछ नहीं मांगूंगी। महू में राज्यमंत्री ने अफसरों से पूछा कि इंदौर-महू रेल विद्युतीकरण का काम कितने समय में पूरा होगा, जवाब मिला एक साल में। उन्होंने नौ महीने में काम पूरा करने को कहा। ताई ने कहा-उनकी इच्छा है कि इंदौर-दाहोद रेल लाइन का कुछ हिस्सा जल्द शुरू हो जाए। रेलवे यदि राऊ के पास 'वाय" सेक्शन बना दे तो दाहोद लाइन के यात्री इंदौर के साथ खंडवा की दिशा में भी सफर कर सकेंगे।

दो बार हुआ हंगामा

जब रेल राज्यमंत्री पहुंचे और कार्यक्रम शुरू होने लगा तो इंदौर-पटना ट्रेन के फेरे बढ़ाने की मांग को लेकर पूर्वांचल के लोग हंगामा करने लगे। मंत्री ने उनसे ज्ञापन लिया और भरोसा दिया कि वे इस मांग के लिए बोर्ड स्तर पर बात करेंगे। इसके बाद लोकसभा स्पीकर ने जैसे ही भाषण शुरू किया तो कुछ लोग रेवांचल ट्रेन का समय सुधारने और राजस्थान की कनेक्टिविटी सुधारने के लिए नारेबाजी करने लगे। स्पीकर ने यह कहते हुए उन्हें शांत रहने को कहा कि वे नारा लगाने वालों से बात नहीं करतीं।

भोजपुरी में बतियाए मंत्रीजी, ताई बोलीं- बिहार के नहीं, यूपी के हैं

जब पटना ट्रेन के फेरे बढ़ाने की मांग को लेकर लोग हंगामा कर रहे थे, तो मंत्री उनसे भोजपुरी में बात करने लगे। अधिकारियों, नेताओं और लोगों ने भी इसका जमकर आनंद लिया। बाद में ताई ने लोगों से कहा- मंत्री बिहार के नहीं, यूपी के हैं।

कार्यक्रम में महापौर मालिनी गौड़, विधायक महेंद्र हार्डिया, सुदर्शन गुप्ता, उषा ठाकुर, आईडीए अध्यक्ष शंकर लालवानी, पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष मधु वर्मा, रेलवे बोर्ड के मेंबर ट्रैफिक मोहम्मद जमशेद, पैसेंजर एमिनिटीज कमेटी के सदस्य नागेश नामजोशी और कैटरिंग सर्विसेस कमेटी की सदस्य अंजू माखीजा आदि मौजूद थे।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local