जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि । जिले के सभी अस्पतालों में अत्यावश्यक व्यवस्थाओं का निरीक्षण और कागजातों की पड़ताल चल रही है। इसी कड़ी में कलेक्टर डा. इलैयाराजा टी ने शुक्रवार को जिला अस्पताल का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने अस्पताल का फायर सेफ्टी आडिट और इलेक्ट्रिकल सेफ्टी आडिट कराने के निर्देश भी दिए।

निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने आकस्मिकता की स्थिति से निपटने अस्पताल की विद्युत आपूर्ति और अग्निशमन व्यवस्थाओं को चुस्त दुरुस्त रखने की हिदायत भी अधिकारियों को दी। डा. इलैयाराजा ने कहा कि इसके लिए नए उपकरण खरीदने अथवा वर्तमान उपकरणों की क्षमता बढ़ाने की आवश्यकता हो तो तुरंत डिटेल सर्वे कर प्राक्कलन तैयार करें और प्राथमिकता तय कर उन पर कार्य शुरू भी कराएं।

अस्पताल का हर कोना देखा

कलेक्टर डा. इलैयाराजा ने निरीक्षण के दौरान जिला अस्पताल के आइसीयू, पोषण पुनर्वास केन्द्र, आक्सीजन सप्लाई यूनिट एवं विद्युत आपूर्ति केन्द्र का जायजा लिया। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि अस्पताल में सुधार कार्य के लिए राशि की चिंता बिल्कुल न करें। इन कार्यों के लिए जितनी भी राशि की जरूरत होगी, तत्काल डीएमएफ से उपलब्ध कराई जाएगी। उन्होंने अधिकारियों को जरूरी सिविल वर्क के लिए भी सर्वे कर बिंदुवार आवश्यकताएं तय कर ऐस्टीमेट बनाकर प्रस्तुत करने के लिए भी कहा। कलेक्टर ने अस्पताल की इलेक्ट्रिकल सेफ्टी आडिट के साथ भविष्य की जरूरतों को देखते हुए वर्तमान विद्युत सब स्टेशन की क्षमता बढ़ाने, कंट्रोल पैनल बदलने एवं केबिल बदलने का प्रस्ताव बनाने के भी निर्देश दिए।

इनकी रही मौजूदगी

जिला अस्पताल में कलेक्टर के निरीक्षण के दौरान नगर निगम आयुक्त आशीष वशिष्ट, जिला पंचायत की सीईओ डा. सलोनी सिडाना, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा. संजय मिश्रा, कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग शिवेन्द्र सिंह, नगर निगम के फायर सेफ्टी अधिकारी कुशाग्र ठाकुर भी मौजूद रहे।

Posted By: Jitendra Richhariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close