जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। जबलपुर रेल मंडल की सीमा में बिछाई जा रहीं नई रेल और विद्युत लाइन पर ट्रेनों को दौड़ाने की तैयारी शुरू हो गई है। शुक्रवार को जबलपुर रेल मंडल के सतना-रीवा रेल खंड में बन रही दूसरी रेल लाइन का काम लगभग पूरा हो गया है। 55 किमी लंबे ट्रैक पर आने वाले सकरिया से हिनौता रामवन स्टेशन पर नई रेल लाइन की जांच करने रेलवे सेफ्टी कमिश्नर (सीआरएस) मनोज अरोरा ने निरीक्षण किया। इस ट्रैक पर 120 किमी की रफ्तार से इंजन दौड़ाया गया। इंजन पर सीआरएस और उनकी निरीक्षण टीम सवार हुई। उन्होंने इंजन चलने के दौरान पटरी की सुरक्षा से जुड़े सभी मापदंड को परखा।

सीआरएस के ओके के बाद ही चलेंगी ट्रेनें

दरअसल, निरीक्षण के बाद सीआरएस नए ट्रैक के सुरक्षा से जुड़े सभी मापदंड से संतुष्ट होते हैं तो उनके द्वारा माल और यात्री ट्रेनों के संचालन की स्वीकृति मिलेगी। निरीक्षण के दौरान पश्चिम मध्य रेलवे के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी वीके अग्रवाल के साथ ही जबलपुर रेल मंडल के डीआरएम संजय विश्वास मौजूद रहे। सीआरएस ने सुबह ट्रैक का निरीक्षण शुरू किया। इससे पूर्व ही जबलपुर से सीआरएस स्पेशल ट्रेन सतना पहुंंच गई थी। इस ट्रेन में सीआरएस के साथ पमरे जोन और जबलपुर रेल मंडल के अधिकारी मौजूद रहे। यहां से सुबह इंजन पर सवार होकर सीआरएस अन्य अधिकारियों के साथ सीआरएस स्पेशल ट्रेन को 120 किमी की रफ्तार से चलाया।

काम में आ रही परेशानी

सतना से रीवा रेल खंड में बन रहीं दूसरी रेल लाइन बिछाने का काम कई भाग में किया जा रहा है। इसमें से अधिकांश भाग हो गया है, लेकिन कई भाग स्थानीय विरोध की वजह से नहीं हो पाया। इस काम को भी जल्द कराने के लिए रेलवे ने स्थानीय प्रशासन से मदद मांगी है।

आज कटनी-सिंगरौली रेलखंड का निरीक्षण

प्रति घंटे की रफ्तार से चला कर देखा और इस ट्रक को रेल संचालन के लिए उपयुक्त पाया। सीआरएस अरोरा जबलपुर मंडल में प्रवास के दूसरे दिन आज 13 अगस्त को कटनी से सिंगरौली रेल खंड पर स्थित निवास रोड और मरवासग्राम स्टेशनों के बीच बनी नई रेल लाइन का भी निरीक्षण करेंगे।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close