जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। इंडियन इंस्टीट्यूट आफ इनफारमेंशन टेक्नोलाजी डिजाइन एडं मैन्युफेक्चरिंग जबलपुर के विद्यार्थी रिसर्च और तकनीक को समझने फिलीपींस जाएंगे। यूनिवर्सिटी आफ साइंस एडं टेक्नोलाजी सदर्न फिलीपींस (यूएसटीपी) के साथ हाल ही में करार हुआ है, जिसमें दोनों संस्थानों के बीच रिसर्च, फैकल्ट्री और स्टूडेंट एक्सजेंच प्रोग्राम चलेगा। ट्रिपलआइटी डीएम के निदेशक प्रो.प्रवीण एन कोडेंकर ने यूएसटीपी के अध्यक्ष डा.एम्ब्रोसियो कल्टुरा के साथ वर्चुअली करार किया है। फिलीपींस चीन के बाद सबसे बड़ा मैन्युफैक्चरिंग हब है, जिसकी तकनीकी का लाभ यहां के विद्यार्थी भी उठाएंगे।

23 सितंबर 2022 को यह करार दोनों संस्था प्रमुख के बीच किया गया है। प्रो.कोडेंकर ने बताया कि एसोसिएशन आफ इंटरनेशनल एजुकेटर एनएएफएसए 2022 में इस करार की नींव रखी गई। उन दौरान संस्थानों के विद्यार्थियों को आकादमिक ज्ञान में बढ़ोतरी के उद्देश्य से यह करार किया गया है। इस समझौते के होने के बाद ट्रिपलआइटी डीएम को आकादमिक गुणवत्ता में इजाफा होगा। प्रो.कोडेंकर ने बताया कि अभी तक सिर्फ जापान के साथ संस्थान का स्टूडेंट एक्सजेंच प्रोग्राम चल रहा था। जिसमें हर साल 15-20 विद्यार्थी जापान जाकर अपने रिसर्च और अकादमिक ज्ञान को बढ़ाते थे। अब उन्हें फिलीपींस जैसे देश में जाकर तकनीकी ज्ञान मिलेगा।

संस्था के बड़ी उपलब्धि -

प्रो.प्रवीण कोंडेकर ने कहा कि यूनिवर्सिटी आफ साइंस एडं टेक्नोलाजी फिलीपींस के साथ अकादमिक प्रोग्राम के तहत किए गए इस करार को बड़ी उपलब्धि बताया जा रहा है। उन्होंने कहा कि फिलीपींस मैन्युफेक्चरिंग का हब है। खासतौर पर सेमी कंडक्टर चिप डिजाइन में हमें इसके काफी मदद मिलेगी। विद्यार्थी वहां की फैकल्टी से तकनीकी जानकारी लेकर स्वदेश में सेमी कंडक्टर चिप डिजाइन को लेकर काम कर सकते हैं। सिर्फ यहीं नहीं रिसर्च, फैकल्ट्री को भी दोनों संस्थानों के बीच समय-समय पर एक्सचेंज किया जाएगा।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close