जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। सीवर लाइन और अमृत योजना के तहत कराए जा रहे जलप्रदाय के लचर काम को देख अब संभागायुक्त व नगर निगम प्रशासक भी सख्त हो गए हैं। निगम प्रशासक बी चंद्रशेखर ने अमृत योजना के तहत शहर में जलप्रदाय व सीवर लाइन बिछाए जाने के कार्य की समीक्षा की। पॉवर प्वाइंट प्रजेन्टेशन के माध्यम से सीवर और जलप्रदाय के कार्यो की प्रगति देखी और कार्यो में तेजी लाने की हिदायत दी। बैठक में सीवर व जलप्रदाय योजना के क्रियान्वयन में देरी के कारण लोगों को हो रही परेशानी काे देखते हुए डीपीआर तैयार करने वाले कंसलटेंट के प्रति नाराजगी जाहिर की। उन्होंने निगम अधिकारियां को निर्देशित किया कि जो भी डीपीआर तैयार कराई गई जा रही या कराई जा रही है उसका सूक्ष्म रूप से परीक्षण करने के लिए अलग से अनुभवी अधिकारी को नियुक्त किया जाए। ताकि कंसलटेंट द्वारा तैयार डीपीआर का सही तरीके से परीक्षण हो सके ।

15 दिन बाद फिर होगी समीक्षा, तय होगी समय अवधि: बैठक में संभागायुक्त व निगम प्रशासक ने निगम अधिकारियों, कंसलटेंट व ठेकेदारों तथा ठेकेदारों को कहा कि 15 दिन के बाद वे फिर से सीवर लाइन और जलप्रदाय योजना के कार्यो की समीक्षा करेंगे। जिसमें परियोजनाओं को पूरा करने के संबंध में अंतिम समय सीमा तय की जाएगी। इसके लिए सभी को परियोजनाओं का अध्ययन करते हुए पूरी तैयारी के साथ उपस्थित रहे। उन्होंने कहा कि सीवर लाइन तथा जलप्रदाय योजना शहर के लिए अतिमहात्वपूर्ण योजना है। इन योजनाओं के कार्यो को बहुत ही गंभीरता के साथ पूरा करने की जबावदारी आप सभी की है। इसमें यदि कोई लापरवाही उजागर होती है तो संबंधितों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी। बैठक में कार्यपालन यंत्री कमलेश श्रीवास्तव, उपयंत्री संजय सिंह के साथ सीवर एवं जलप्रदाय योजना के कन्सल्टेंट तथा ठेकेदार उपस्थित रहे।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local