जबलपुर। तीन दिनों से लगातार हो रही बारिश का असर ट्रेनों पर भी दिखाई देने लगा है। जबलपुर समेत सतना, रीवा, कटनी, दमोह और सागर में रेलवे ने हाई अलर्ट जारी किया है। सबसे खराब हालत सतना, रीवा और मैहर से गुजरने वाले रेलवे ट्रैक की है। देर शाम यार्ड और ट्रैक पर पानी आ जाने के कारण तकरीबन दो दर्जन ट्रेनों की रफ्तार कम कर दी गई। मनिकपुर से जबलपुर की ओर आ रही ट्रेनों को रोक दिया गया। इधर रेलवे के इंजीनियरिंग विभाग ने ट्रैक की सुरक्षा के लिए मानसून अलार्ट जारी कर दिया है।

सिग्नल फेल, मैन्युली चला काम

बुधवार और गुरुवार की झमाझम बारिश से ट्रेनों के सिग्नल सिस्टम पर असर पहुंचाना शुरू कर दिया है। सतना और आस-पास के रेलवे ट्रैक पर लगे सिग्नल फेल हो रहे हैं। कई जगहों पर ट्रेनों को मैन्युअली निकाला जा रहा है। जबलपुर रेल मंडल की सीमा में आने वाले सतना पर सबसे बुरा असर हुआ है। ट्रेनों की स्पीड 30 से भी कम करने के निर्देश दिए गए हैं। इतना ही नहीं ट्रैक पर पानी होने की स्थिति पर लोको पायलट को ट्रेन न निकलने कहा गया है।

पुल और पुलियों की बढ़ी निगरानी

रेलवे के इंजीनियरिंग विभाग ने सतना से जबलपुर के बीच आने वाले रेलवे ट्रैक के पुल-पुलियों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। इनकी पेट्रोलिंग में लगे ट्रैकमैन की तादात बढ़ा दी गई है। सतना और इसके आस-पास 5 सौ से ज्यादा की संख्या में ट्रैकमैन को भेजा गया है। पिछले साल हरदा में हुई रेल दुर्घटना से सबक लेते हुए पश्चिम मध्य रेलवे ने जबलपुर और भोपाल जोन को ट्रेन, ट्रैक और सिग्नल की सुरक्षा पर खास एहतियात बरतने कहा गया है।

श्रीधाम 3 घंटे लेट रवाना

बारिश की वजह से अधिकांश ट्रेनों की स्पीड कम हो गई है। सतना से जबलपुर की ओर आने वाले अधिकांश ट्रेन लेट चल रही हैं। महाकौशन ट्रेन अपने निर्धारित समय से 2 घंटे देरी से पहुंची। इधर महानगर, जनता, पटना-पुणे समेत एक दर्जन ट्रेन लेट चल रही हैं। वहीं जबलपुर से इटारसी की ओर जाने वाली ट्रेनों के पहिए भी जाम होने लगे हैं। जबलपुर से रवाना होने वाली श्रीधाम ट्रेन गुरुवार को 3 घंटे देरी से रवाना हुई।

इन पर हो रहा अमल

-ट्रैक के आस-पास पानी होने पर स्पीड कम करने के निर्देश।

-ट्रैक पर पानी होने पर ट्रेन न निकलने कहा गया।

-सिग्नल फेल होते ही मैन्युली ट्रेन निकला जा रहा।

-ट्रैक के साथ रेलवे की पुल-पुलियों की सुरक्षा बढ़ाई।

-ट्रैक की पेट्रोलिंग में निर्धारित सीमा से ज्यादा लोग लगाए गए।

-इंजीनियरिंग विभाग के आला अधिकारी सतना पहुंचे।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local