जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। पश्चिम मध्य रेल जबलपुर मंडल के कटनी-सिंगरौली रेल खंड पर देवराग्राम से मझौली स्टेशन के बीच 8.278 किलोमीटर दोहरीकरण कार्य का निरीक्षण करने रेल संरक्षा आयुक्त मध्यवृत द्वारा किया गया। इस अवसर पर मुख्यालय से प्रमुख विभागाध्यक्ष, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी, निर्माण एवं जबलपुर मंडल के मंडल रेल प्रबंधक और इंजीनियरिंग परिचालन इलेक्ट्रिकल सिग्नल एवं दूरसंचार विभाग के वरिष्ठ अधिकारी सहित इरकॉन के अधिकारी उपस्थित रहे। वहीं सतना-रीवा रेलखण्ड पर कैमा से सकरिया के मध्य 6 किमी के दोहरीकरण के कार्य को रेल संरक्षा आयुक्त द्वारा 8 सितम्बर को निरीक्षण किया जाएगा।

निरीक्षण के दौरान रेल संरक्षा आयुक्त ने इस रेलखंड पर संरक्षा एवं सुरक्षा से जुड़े संसाधनों, ओएचई लाइन, संम्बद्ध उपकरण तथा सिगनलिंग आदि का निरीक्षण किया और उनके कार्य क्षमता को देखा। देवराग्राम से मझौली के मध्य रेलखण्ड पर 4 घुमावदार कर्व और 2 बड़े ब्रिज, 6 छोटे ब्रिज और 4 सीमित ऊंचाई सबवे, आरयूबी का निर्माण कार्य किया गया है। इस रेलखण्ड पर सभी प्रकार के रेलवे मापदंडों के अनुसार निर्माण कार्य किया गया है। इस दौरान देवराग्राम से मझौली के मध्य दोहरीकरण लाइन पर इलेक्ट्रिक इंजन से 121 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से सफल स्पीड ट्रायल भी किया गया। कार्य की गुणवत्ता एवं स्पीड ट्रायल पर रेल संरक्षा आयुक्त ने संतुष्टि व्यक्त की। दोहरीकरण होने से गाड़ियों की रफ्तार बढ़ेगी और इस क्षेत्र का आर्थिक विकास भी होगा।

88 किमी का कार्य पूर्ण किया :

- कटनी से सिंगरौली दोहरीकरण के कार्य में न्यू कटनी जंक्शन से कटंगीखुर्द तक 8 किमी और देवराग्राम से मझौली तक 8 किमी कुल 16 किमी का कार्य पूर्ण किया गया।

- कटनी से बीना तिहरीकरण का कार्य में हरदुआ से रीठी 15 किमी और मालखेड़ी से खुरई 18 किमी तक कुल 33 किमी का कार्य पूर्ण किया गया।

- बीना से कोटा दोहरीकरण के कार्य में अशोकनगर से ओर 13 किमी एवं भौरां से बिजोरा 26 किमी तक कुल 39 किमी का कार्य पूर्ण किया गया।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local