Sharad Yadav Passes Away: सुरेंद्र दुबे, जबलपुर। शरद यादव का जबलपुर से गहरा नाता रहा है। उन्होंने इसी शहर से छात्र राजनीति में दस्तक दी। वे यहीं से मुख्यधारा की राजनीति के युवा तुर्क के रूप में चर्चित हुए। इसी शहर में रहकर छात्र से छात्रनेता तक का सफर तय किया। इसी शहर ने शरद यादव को बेबाक बनाया। नर्मदा की माटी ने उनके व्यक्तित्व को सोंधी खांटी सुगंध दी और नर्मादा जल ने उनके स्वभाव को सौम्य-मिलनसार व तरल के साथ ही तेज़-तर्रार भी बनाया। इस शहर के समकालीन मार्गदर्शक बुद्धिजीवी वर्ग ने शरद के भीतर छिपी असीम सम्भावना को समय पर समझा और प्रोत्साहन दिया।

कमाल की बात यह रही कि जेपी आंदोलन के समय समग्र क्रांति की मशाल थामने के बावजूद शरद कभी समाजवादी विचारधारा मात्र के प्रति दुराग्रही नहीं रहे। यही रही कि कांग्रेस और भाजपा के कद्दावर से लेकर मझौले व छोटे नेताओं के बीच उनका मान-सम्मान बराबर रहा। जब भी अवसर मिला जबलपुर के लिए उठाए आवाज़ : शरद यादव को जब भी बड़ा पद मिला उन्होंने जबलपुर के हक की आवाज़ उठाई। ब्राडगेज के लिए महत्वपूर्ण योगदान दिया।

युवा छात्रनेता गोविंद यादव सहित अन्य को स्थानीय से प्रादेशिक और फिर राष्ट्रीय राजनीतिक ऊंचाई दी। देवा के मंगोड़े सहित दूसरी खासियतों को हमेशा याद किया शरद यादव छात्र राजनीति के दौर में देवा के मंगोड़े के दीवाने थे। यहां के चाय-पान के अड्डों में उनकी आवाजाही के दौरान राजनीति की खूब चर्चा होती थी। श्याम टाकीज चौक पर महफ़िल जमती थी। रामेश्वर नीखरा सहित अन्य शरद का उत्साहवर्धन करने वालों में शामिल थे।

इन्होंने दी श्रद्धांजलि

जबलपुर की पृष्ठभूमि से राजनीतिक सफर की शुरुआत करने वाले शरद यादव का निधन देश के लिए अपूरणीय क्षति है। इसकी भरपाई नहीं की जा सकती। उन्होंने जबलपुर के हक के लिए जो संघर्ष किया है उसको भुलाया नहीं जा सकता। नगर कांग्रेस कमेटी और संस्कारधानी की ओर से विनम्र श्रद्धांजलि। - जगत बहादुर सिंह अन्नू, महापौर

समाजवादी विचारधारा को मानने वाले शरद यादव ने जबलपुर के लिए भी काफी संघर्ष किया था। वे जनता की आवाज बुलंद करते रहे। उनके निधन की खबर सुनकर दुःख हुआ। मेरी ओर से उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि। - अशोक रोहाणी, विधायक कैंट

जबलपुर से राजनीतिक जीवन की शुरुआत कर राष्ट्रीय नेता बनने वाले शरद यादव जी सबसे सुलझे नेताओं में से एक जाने की खबर अत्यंत दुखद ख़बर है। ईश्वर उनके परिजनों को दुख की यह घड़ी सहने की शक्ति प्रदान करें। - रिंकू विज, निगम अध्यक्ष

शरद यादव वरिष्ठ राजनेता रहे। वे जबलपुर से सांसद भी रहे। उनके निधन पर मेरी ओर से श्रद्धांजलि। परमात्मा उनके स्वजन को यह वज्राघात सहने की शक्ति प्रदान करे। - तरूण भानोत, पूर्व मंत्री

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close