जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। अग्निपथ योजना का विरोध कर रहे नौजवानों ने सबसे ज्यादा नुकसान ट्रेन के साथ रेलवे की अन्य संपत्तियों को पहुुंचाया है। इसे देखते हुए जबलपुर समेत मंडल के सभी रेलवे स्टेशनों पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। आरपीएफ और जीआरपी के जवान स्टेशन और ट्रेनों में 24 घंटे गश्त कर रहे हैं। वहीं कमर्शियल विभाग के कर्मचारी, स्टेशन और ट्रेन में बिना टिकट घूमने वालों पर कार्रवाई करने में जुटे हैं। विरोध प्रदर्शन की वजह से देशभर में लगभग 700 से ज्यादा ट्रेनें रद की गई हैं, जिसका असर पश्चिम मध्य रेलवे स्टेशन के यात्रियों को भी हुआ है। इस परेशानी से राहत देने के लिए रेलवे ने कई स्पेशल ट्रेन चलाई हैं, जो जबलपुर होकर जा रही हैं।

सोमवार को इलाहाबाद से जबलपुर होकर पुणे के लिए स्पेशल ट्रेन चलाई गई, जो सुबह छह बजे इलाहाबाद से चली और दोपहर 3.40 पर जबलपुर पहुंची। इस ट्रेन में यात्रियों की भीड़ अधिक होने की वजह से आरपीएफ और कमर्शियल विभाग को जांच करने में परेशानी हुई। यह ट्रेन मंगलवार को सुबह साढ़े 11 बजे सिकंदराबाद पहुंचेगी।

आरपीएफ के 400 से ज्यादा जवान तैनात

जबलपुर मंडल के सभी स्टेशनों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। दो दिन पूर्व प्रदर्शनकारियों ने जबलपुर, सिहोरा और जैतवारा में प्रदर्शन करने का प्रयास दिया, लेकिन आरपीएफ ने समय रहते उन्हें रोक लिया। इसे देखते हुए अहतियातत के तौर पर सभी स्टेशनों पर 400 से ज्यादा आरपीएफ के जवान तैनात हैं। जबलपुर, कटनी और सतना में आरपीएफ के एएससी स्तर के अधिकारियों को 24 घंटे तैनात किया है तो वहीं जवानों की ड्यूटी आठ घंटे से बढ़ाकर 12 घंटे कर दी है। इधर स्टेशन पर हर आने-जाने वालों पर कैमरों से नजर रखी जा रही है। वहीं अब आरपीएफ ने सुरक्षा में ड्रोन की मदद भी ली है।

राजकोट जाने वालों ने बढ़ाई मुश्किल

यूपी-बिहार समेत जबलपुर के शहडोल, मंडल, उमरिया जैसे शहरों से जबलपुर होकर राजकोट जाने वाले यात्रियों ने रेलवे की मुश्किल बढ़ा दी है। बड़ी संख्या में यह लोग जबलपुर पहुंच रहे हैं। यहां से राजकोट एक्सप्रेस में राजकोट जाने के लिए बड़ी संख्या में जबलपुर पहुंच रहे हैं। इस वजह से स्टेशन की सुरक्षा व्यवस्था बिगड़ गई है। हालांकि इनकी संख्या को देखते हुए स्टेशन पर सुरक्षा और जांच व्यवस्था दोनों बढ़ा दी है। कमर्शियल विभाग स्टेशन पर प्रवेश करने वालों की टिकट जांच कर रहा है, जिससे बिना टिकट वाले यात्री स्टेशन में प्रवेश न कर सकें।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close