जबलपुर नईदुनिया प्रतिनिधि। जबलपुर से मुंबई के बीच चलने वाली गरीब रथ ट्रेन को रद करने के निर्णय पर मुंबई सेंट्रल रेलवे जोन और पश्चिम मध्य रेलवे जोन आपस में उलझ गए। छात्रपति शिवाजी टर्मिनल मुंबई और मस्जिद स्टेशन के बीच ब्रिज की मरम्मत का काम किया जाना है। इसलिए मुंबई सेंट्रल रेलवे जोन ने जबलपुर से 19 को जाने वाली और मुंबई से 20 नवंबर को आने वाली गरीब रथ ट्रेन को रद कर दिया। इसकी सूचना पमरे जोन ने भी 11 नवंबर को जारी कर दी। टिकट रद कराने के लिए यात्री आरक्षण केंद्र के चक्कर काटने लगे, लेकिन 16 नवंबर तक उन्हें रिफंड नहीं दिया गया।

यात्रियों से कहा गया कि ट्रेन रद नहीं है। इस बीच पमरे का आपरेटिंग विभाग मुंबई सेंट्रल रेलवे जोन से इस निर्णय पर फिर से विचार करने को कहता रहा। कहा गया कि ट्रेन को कल्याण्ा स्टेश्ान तक चलाया जाए, ताकि यात्रियों को परेश्ाानी न हो, लेकिन बात नहीं बनी। आखिरकार पमरे द्वारा ट्रेन रद कर यात्रा तिथि से दो दिन पहले 17 नवंबर से रिफंड देना श्ाुरू किया गया। इससे टिकट रद कराने वालों की भीड़ लग गई। यात्री रिफंड के लिए परेशान होते रहे।

बरात ले जाने और हज जाने वाले परेशान

ट्रेन रद रहने की तिथि से दो दिन पहले रिफंड देना शुरू किए जाने से आरक्षण केंद्र में यात्रियों की भीड़ लग गई। इससे यात्रियों की परेश्ाानी बढ़ गई। उनका कहना था कि रेलवे ने महज दो दिन पूर्व ट्रेन रद करने का निर्णय लिया। जबकि इस ट्रेन से कइयों को बरात ले जानी थी तो कई को हज यात्रा के लिए मुंबई से फ्लाइट पकड़नी थी। इधर कई बच्चों के नौकरी के लिए साक्षात्कार थे। वहीं कई यात्रियों को कैंसर के इलाज के लिए मुंबई जाना था, लेकिन ट्रेन रद हो जाने के बाद अब वे मुंबई जाने के लिए परेशान हैं। 19 नवंबर को मुंबई जाने के लिए अब दूसरी ट्रेनों में रिजर्वेश्ान नहीं मिल रहा है। गरीब रथ रद होने से जबलपुर से मुंबई जाने वाले लगभग 1200 और मुंबई से जबलपुर आने वाले 1200 से ज्यादा यात्रियों की परेश्ाानी बढ़ गई।

नियम की अनदेखी, रेलवे की मनमानी

रेलवे नियम के मुताबिक ट्रेन रद करने का निर्णय कम से कम 10 से 15 दिन पूर्व लिया जाता है, ताकि जो यात्री संबंधित ट्रेन में यात्रा कर रहे हैं, वे किसी दूरी ट्रेन में अपना आरक्षण करा सकें। हालांकि इन दिनों पटरियों की मरम्मत के नाम पर बड़ी संख्या में ट्रेनों को रद किया जा रहा है। कई ट्रेन को एक से दो दिन पूर्व ही रद कर दिया जाता है। इस वजह से यात्री परेशान हो रहे हैं। इधर, यात्रियों की इस समस्या को सुनने को लेकर न तो मंडल और जोन मुख्यालय के अधिकारी तैयार रहते हैं और न ही रेलवे बोर्ड।

19 नवंबर को मुंबई की ट्रेनों में नहीं जगह

- ट्रेन 12168 में - स्लीपर 5, थर्ड एसी 13 वेटिंग

- ट्रेन 13201 में - स्लीपर 56, थर्ड एसी 15 वेटिंग

- ट्रेन 12142 में- स्लीपर 35., थर्ड एसी 5 वेटिंग

- ट्रेन 12166 में- स्लीपर 101,थर्ड एसी 10 वेटिंग

- ट्रेन 22178 में- स्लीपर 67, थर्ड एसी 9 वेटिंग

इनका कहना है

गरीब रथ को 19-20 नवंबर को रद करने का निर्णय मुंबई सेंट्रल रेलवे जोन ने 11 नवंबर को लिया था। इस पर हमने असहमति जताई थी। कहा था कि संभव हो तो इसे कल्याण स्टेशन तक चलाया जाए, लेकिन वहां पर ट्रेनों का लोड बढ़ने की वजह से इस पर सहमति नहीं बनी। अंतत: हमें इस ट्रेन को रद करना पड़ा।- राहुल श्रीवास्तव, सीपीआरओ, पमरे

Posted By: Jitendra Richhariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close